Thursday, January 28, 2021

थानेदार रंगे हाथ घूस लेते गिरफ्तार

 


औरंगाबाद:
एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लॉ एंड ऑर्डर को लेकर ताबड़तोड़ बैठक कर रहे हैं, कई बार वो खुद पुलिस मुख्यालय समीक्षा करने पहुंच जा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ पुलिस विभाग के ही कुछ अफसर खुद ही लॉ एंड ऑर्डर की धज्जियां उड़ाने में लगे हुए हैं। ऐसा ही एक मामला औरंगाबाद से सामने आया है जहां गोह थाने के थानेदार मनोज कुमार को निगरानी की टीम ने घूस लेते रंगे हाथों दबोच लिया है। थानाइंचार्ज मनोज कुमार पर 30 हजार रुपया घूस लेने का आरोप है। गुरुवार की सुबह निगरानी ने फरियादी की निशानदेही पर छापा मारा और घूस लेते आरोपी इंस्पेक्टर को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

घूसखोरी के आरोपी थानेदार को पटना ले जाया गया
निगरानी की विशेष टीम गिरफ्तारी के बाद आरोपी थानेदार मनोज कुमार को अपने साथ पटना लेकर चली गई है। फिलहाल ये पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाया है कि गोह थानेदार मनोज कुमार किस मामले में घूस ले रहे थे। निगरानी विभाग की इस बड़ी कार्रवाई के बाद औरंगाबाद जिले के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। इस 2 महीने के अंदर औरंगाबाद जिले में निगरानी की यह दूसरी सबसे बड़ी कार्रवाई है।

इससे पहले सहकारिता पदाधिकारी घूस लेते दबोचे गए थे
बता दें कि हाल ही में औरंगाबाद जिले के ओबरा प्रखंड के प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारी को निगरानी की टीम ने घूस लेते गिरफ्तार किया था। 26 नवंबर को औरंगाबाद में निगरानी विभाग की टीम ने ओबरा के प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी को अंकेश पासवान 35 हजार रुपए घूस लेते हुए पकड़ा था।

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के अनुसार औरंगाबाद में ओबरा व्यापार मंडल के अध्यक्ष अनीश कुमार ने 9 नंवबर को शिकायत दर्ज करवाई थी कि प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी अंकेश पासवान उनसे राइस मिल को भुगतान करने हेतु चेक पर हस्ताक्षर करने के लिए 40 हजार रुपये रिश्वत मांग रहे थे। इसके बाद मामले की जांच की गई और अनीश कुमार की शिकायत को सही पाया गया।

26 नवंबर को डीएसपी सर्वेश कुमार के नेतृत्व में धावादल का गठन किया गया। धावा दल ने उसी दिन सुबह प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी अंकेश पास को उनके कार्यालय भवन के गेट के पास से 35 हजार रुपए घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। दरअसल उसी वक्त सरकार ने राज्यस्तरीय और जिला स्तरीय निगरानी समिति और धावा दल का गठन करते हुए नियंत्रण कक्ष का नंबर जारी किया था। इस नंबर पर लोगों ले मिली शिकायत के आधार पर निगरानी टीम कार्रवाई कर रही है।


बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...