Thursday, January 28, 2021

मोस्ट वांटेड अपराधी पपला गुर्जर गिरफ्तार

अलवर। राजस्थान-हरियाणा के हार्डकोर मोस्ट वांटेड अपराधी को राजस्थान पुलिस ने आख़िरकार गिरफ्तार कर लिया। अलवर जिले के बहरोड़ थाने पर 6 सितम्बर 2019 को एके-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दो दर्जन से ज्यादा बदमाश पपला गुर्जर को छुड़वा कर फरार हो गए थे। उसके बाद से पपला गुर्जर फरार था। अब उसके 16 महीनों बाद पपला गुर्जर को गिरफ्तार किया गया है। सामने आया है कि कुछ टीमें पपला गुर्जर के पीछे थी। पपला गुर्जर से कुछ सामान और दस्तावेज बरामद हुए थे।जानकारी के अनुसार पपला गुर्जर को हरिद्वार से गिरफ्तार किया गया है। हालाँकि इसकी आधिकारिक जानकारी शाम को प्रेस वार्ता में पुलिस देगी। पपला गुर्जर को जयपुर लाया जा रहा है।

राजस्थान एसओजी/एटीएस व भिवाड़ी पुलिस अब तक पपला के गिरोह के 35 बदमाशों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें कई 50 हजार के इनामी बदमाश हैं।शाम को राजस्थान पुलिस के महानिदेशक एमएस लाठर इस पूरे मामले की जानकारी देंगे।

पपला गुर्जर केस के मुख्य बिंदु

पांच सितम्बर को बहरोड़ पुलिस ने पपला गुर्जर को गिरफ्तार किया था। अगले दिन पपला के साथी उसे छुड़ा कर ले गए थे।

- पपला गुर्जर को 5 सितंबर 2019 की रात बहरोड़ पुलिस ने हाईवे से 32 लाख रुपए के साथ गिरफ़्तार किया था।

- पुलिस से मिलीभगत कर पतला ने अगले दिन 6 सितंबर की सुबह अपने साथियों से बहरोड थाने पर हमला करा दिया। बहरोड़ थाने पर एके-47 जैसे आधुनिक हथियारों से ताबड़तोड़ फायरिंग कर बदमाशों अपने साथी पपला गुर्जर को लॉकअप से निकाल कर फरार हो गए थे।

- इस मामले में पुलिस अब तक पपला गुर्जर के करीब 3 दर्जन साथियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

- पपला गुर्जर पर राजस्थान और हरियाणा पुलिस की ओर से 3-3 लाख रुपए का इनाम घोषित किया हुआ था।

- पपला गुर्जर की फरारी मामले में राजस्थान पुलिस कि काफी बदनामी हुई थी।

- इस मामले में बहरोड़ थाने के दो पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया गया था, थाना अधिकारी को निलंबित किया गया था तथा पूरे थाने को लाइन हाजिर भी किया गया था। साथ ही एडिशनल एसपी और डीएसपी पर भी गाज गिरी थी।

बहरोड़ थाने में हुआ था नक्सलियों जैसा हमला

5 सितम्बर 2019 को हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर निवासी खैरोली जिला महेन्द्रगढ़-हरियाणा अपने साथी जसराम पटेल की हत्या का बदला लेने बहरोड़ आया था, लेकिन बहरोड़ के बदमाश विक्रम उर्फ लादेन को मारने से पहले ही वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। बहरोड़ पुलिस ने पपला को 31.90 लाख रुपए के साथ पकड़ा था। पुलिसकर्मियों से मिलीभगत कर पपला ने अपने गुर्गों से मोबाइल पर बात की। इसके बाद अगले दिन 6 सितम्बर की सुबह करीब साढ़े आठ बजे पपला के गुर्गे बहरोड़ में घुसे और थाने में एके-47 व एके-56 जैसे हथियारों से गोलियां बरसा पपला को लॉकअप से निकालकर ले गए।

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...