Friday, January 29, 2021

शराब दुखांतिका: चौदह माह में ही उजड़ गया नवविवाहिता का सुहाग, भाइयों की टूटी जोड़ी


 भीलवाड़ा  हलचल। सारण का खेड़ा जहरीली शराब कांड ने एक नव विवाहिता का सुहाग उजाड़ दिया, तो कुछ बच्चों के सिर से पिता का साया हमेशा के लिए छीन लिया। इस दुखांतिका में चार लोगों की मौत के बाद गांव के बाशिंदे शोक में डूबे हैं। 
ग्रामीणों व परिजनों के अनुसार, शराब दुखांतिका में जान गंवाने वाला 24 वर्षीय दलेलसिंह राजपूत खेती करता था। वह दो भाइयों में बड़ा था। उससे छोटा एक भाई शैतान है। बताया गया है कि दलेल सिंह की शादी 29 नवंबर 2020 को स्वरुपगंज क्षेत्र में हुई थी। नवविवाहिता जोड़ा हंसी-खुशी के साथ था। मगर शायद नियत को यह मंजूर नहीं था। इस नवविवाहिता का सुहाग बीती रात जहरीली हथकढ़ शराब ने उजाड़ दिया। पति की खबर सुनकर इस विवाहिता का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं दलेल के परिजन भी अपने आंसू नहीं रोक पा रहे हैं। वहीं गांव में भी शोक छाया हुआ है। 
दलेल सिंह व शैतान सिंह दोनों भाई थे। दलेल सिंह की मौत के बाद इन भाइयों की जोड़ी टूट गई। उधर, एक अन्य मृतक हजारी बैरवा भी किसान था, जो खेती कर अपना व परिवार का पालन-पोषण कर रहा था। उसकी भी जहरीली शराब पीने से मौत हो गई। हजारी 4 लड़कों व एक लड़की का पिता बताया गयाहै। वहीं सरदार भाट दो बच्चों व एक बच्ची का पिता बताया जा रहा है। बच्ची अभी छोटी है, जबकि बच्चे शादीशुदा बताये गये हैं। 

 तस्कर के यहां पी शराब, खरीदकर घर भी लाये थे लोग
पीडि़त भोमसिंह ने हलचल को बताया कि गांव की कंजर कॉलोनी में गांव के लोग बीती रात शराब पीने गये थे। कुछ लोगों ने वहां शराब पी, जबकि कुछ अपने साथ घर पर भी शराब ले गये थे। इस शराब को पीने से चार लोगों की मौत हो गई। पांच अन्य की तबीयत बिगड़ गई। भोमसिंह ने यह भी बताया कि यहां लंबे समय से शराब बैची जा रही है। उन्होंने कहा कि वे तो कल पहली बार ही पीने चले गये थे। 

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...