नर्सिंग की पढ़ाई के लिए नहीं थी फीस, साथियों के साथ मिलकर होटल से उड़ाये 13 लाख, बचने के लिए सांवरा सेठ को भी चढ़ाई राशि

 


   

चित्तौडग़ढ़ बीएचएन। जिले के भूपाल सागर थाने के जाशमा स्थित एक होटल से 13 लाख रुपये चोरी की वारदात को पुलिस ने खोल दिया। यह चोरी तीन दोस्तों ने मिलकर की थी। इनमें से एक युवक को नर्सिंग की पढाई जारी रखने के लिए फीस के लिए रुपयों की आवश्यकता थी। इसी के चलते उसने दो दोस्तों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस की पूछताछ में आरोपितों से निकल कर यह बात सामने आई कि  आरोपितों ने होटल से 13 लाख रुपए चोरी करने के लिए 2 लाख 20 हजार रुपए सांवरा सेठ को दान कर दिए। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया है।  

भूपालसागर एसएचओ भगवती लाल ने कहा कि  चोरी के इस प्रकरण में डूंगला निवासी हितेश पुत्र सोहनलाल चौधरी, पप्पू सिंह पुत्र गणपत सिंह और रिठौला निवासी अनिल पुत्र बालूलाल ओड़ को गिरफ्तार किया गया है। तीनों पर  मई माह में जाशमा के एक होटल से 13 लाख रुपयों की चोरी करने का आरोप है। पुलिस का कहना है कि वारदात के बाद सामने आये तथ्यों के आधार पर जांच की तो चोर होटल का स्टाफ  ही वारदात में लिप्त निकला। 

एसएचओ ने बताया कि  तीनों ने चोरी कबूल कर ली है। इनसे पूछताछ में चौंकाने वाली बात यह सामने आई कि  डूंगला निवासी हितेश पुत्र सोहनलाल चौधरी उदयपुर में नर्सिंग की पढ़ाई कर रहा है। फीस नहीं भर पाने के कारण उसने अपने दोस्तों डूंगला निवासी पप्पू सिंह पुत्र गणपत सिंह और रिठौला निवासी अनिल पुत्र बालूलाल ओड़ को बताया। इसके बाद  चोरी की प्लानिंग की। हितेश, जिस होटल में काम करता है, वहां उसने चोरी करने की बात दोस्तों से कही।योजना के तहत 27 मई की रात  पप्पू सिंह और अनिल को हितेश ने व्हाट्सएप्प कॉल करके होटल बुलाया। दोनों के पास रुपए नहीं थे, इसीलिए हितेश होटल की छत पर खड़ा रहा और दोनों को पीछे की तरफ बुलाया। वहां हितेश ने पप्पू सिंह और अनिल को एक हजार रुपए दिए। फिर दोनों होटल में ग्राहक बनकर गए। एक रूम 500 रुपए किराए पर लिया। आईडी कार्ड अगले दिन सुबह देने की बात कहकर रूम में चले गए। होटल कर्मचारियों को सोता देख हितेश में स्टोर रूम की चाबी दोनों दोस्तों को दे दी। दोनों स्टोर रूम में रखी तिजोरी लेकर पीछे के गेट से निकल गए थे।  तीनों ने आपस में  रुपए बांट लिए।   इसके बाद बचने के लिए 13 लाख रुपयों में से 2 लाख 20 हजार रुपए सांवरा सेठ के दान पेटी में डालकर आ गए। तीनों को लगा कि सांवलिया जी को चढ़ावा चढ़ाने से वो पकड़ में नहीं आएंगे। वहीं, वारदात के बाद पप्पू सिंह और अनिल ने गोवा की सैर भी की। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू