पंजाब नेशनल बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका: कर्ज की दरों में किया 15 बीपीएस का इजाफा

 


 

पंजाब नेशनल बैंक  ने अपने ग्राहकों को जेारदार झटका दिया है। बुधवार को जून महीने की शुरुआत के पहले दिन बुधवार को बैंक ने कर्ज की ब्याज दरों में 15 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है। इसका असर पीएनबी से लिए गए सभी तरह के लोन पर पड़ेगा और लोन लेने वालों पर ईएमआई का बोझ बढ़ जाएगा। नियामकीय फाइलिंग में दी गई जानकारी के अनुसार, नई दरें एक जून 2022 से प्रभावी होंगी। 

कई बड़े बैंकों ने बढ़ाई हैं दरें 
गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) द्वारा रेपो रेट में वृद्धि करने के बाद से कई बड़े-छोटे बैंक अपनी ब्याज दरों में इजाफा कर चुके हैं। अब इस क्रम में पीएनबी ने भी अपने ग्राहकों को तगड़ा झटका दिया है।

में वृद्धि करने के बाद से कई बड़े-छोटे बैंक अपनी ब्याज दरों में इजाफा कर चुके हैं। अब इस क्रम में पीएनबी ने भी अपने ग्राहकों को तगड़ा झटका दिया है। बता दें कि आरबीआई ने अचानक बुलाई गई एमपीसी की बैठक में रेपो रेट में 0.40 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। इसके बार रेपो दर बढ़कर 4.40 फीसदी हो गई थी।   
बदलाव के बाद नई दरें इस प्रकार    
पंजाब नेशनल बैंक की वेबसाइट पर साझा की गई जानकारी के मुताबिक, इस वृद्धि के बाद एक वर्ष की अवधि के लिए एमसीएलआर दरें पहले निर्धारित 7.25 फीसदी से बढ़कर 7.40 फीसदी हो गई हैं। आपको बता दें कि ज्यादातर लोन सालाना एमसीएलआर दरों से संबंधित हेाते हैं, ऐसे में इसमें वृद्धि के बाद लोन की ईएमआई का बढ़ना स्वभाविक है। इसके अलावा एक रात की अवधि के लिए एलसीएलआर दर 15 बीपीएस बढ़कर 6.75 फीसदी, एक महीने की अवधि के कर्ज पर 6.80 और तीन महीने की अवधि के लिए यह 6.90 फीसदी कर दी गई है। इसके अलावा छह माह की अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर दर 7.10 फीसदी हो गई है। इसी तरह तीन साल की अवधि के लिए यह 7.70 फीसदी हो गई है। 

यहां भी बढ़ा ग्राहकों पर बोझ
इसके अलावा बैंक ने NEFT (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर), RTGS (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट) समेत शुल्क में बढ़ोतरी की है। वहीं नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (एनएसीएच) ई-मैनडेट चार्जेज को भी रिवाइज्ड किया गया है। पीएनबी की तरफ से मंगलवार को दी गई जानकारी के अनुसार, ऑफलाइन लेन-देन के लिए आरटीजीएस का शुल्क 24.50 रुपये और ऑनलाइन लेन-देन के लिए 24 रुपये कर दिया गया है, जबकि इससे पहले ब्रांच लेवल पर लेन-देन में ऑफलाइन के लिए आरटीजीएस के लिए शुल्क 20 रुपये था। इसके अलावा, पांच लाख और उससे अधिक राशि के लिए आरटीजीएस शुल्क को बढ़ाकर 49.50 रुपये कर दिया गया है, जो पहले 40 रुपये था। इसका ऑनलाइन शुल्क 49 रुपये कर दिया गया है। पीएनबी की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, 10,000 रुपये तक लेने-देन पर एनईएफटी शुल्क 2.25 रुपये हो गया, जो पहले 2 रुपये था। इसके लिए ऑनलाइन शुल्क 1.75 रुपये हो गया है।

एचडीएफसी ने बढ़ाई आरपीएलआर दर
एक ओर जहां बुधवार को पंजाब नेशनल बैंक ने कर्ज महंगा करते हुए ग्राहकों को झटका दिया है। वहीं दूसरी ओर एचडीएफसी बैंक ने भी बड़ा फैसला लेते हुए होम लोन पर रिटेल प्राइम लैंडिंग रेट (आरपीएलआर) में पांच बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर दी है। बैंक की ओर से आधिकारिक वेबसाइट पर साझा जानकारी के मुताबिक, ये नई दरें एक जून 2022 से प्रभावी मानी जाएंगी। यही नहीं एसबीआई ने पिछले दिनों अपने होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (ईबीएलआर) को 40 बेसिस प्वाइंट (बीपीएस) बढ़ाकर 7.05 फीसदी और आरएलएलआर 6.65 फीसदी प्लस सीआरपी करने का एलान किया था, वह भी बुधवार से ही लागू होगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू