दिशा सूचक बोर्ड 3 साल से कर रहा वाहन चालकों को भ्रमित

 


सवाईपुर ( सांवर वैष्णव )

 सवाईपुर कस्बे के निकटवर्ती आकोला गांव के पास से गुजर रही बनास नदी पर बनी पुलिया तकरीबन अगस्त 2016 में तेज बारिश के चलते टूट गई थी, जिसकी 2 साल बाद मरम्मत की गई थी । इस दौरान सवाईपुर कस्बे के कोटड़ी चौराहे पर लगाया गया दिशा सूचक बोर्ड 3 साल बाद भी लोगों को भ्रमित कर रहा है । 10 अगस्त 2016 को हुई तेज बारिश के चलते नदी में आए पानी के तेज बहाव से बनास नदी की पुलिया टूट कर पानी के साथ बह गई थी, जिसका पीडब्ल्यूडी विभाग के द्वारा 2 साल बाद पुलिया की मरम्मत कर पुनः सुचारू किया, इस दौरान सवाईपुर कस्बे के कोटड़ी चौराहे के आकोला मार्ग पर लगाया गया दिशा सूचक बोर्ड जिस पर लिखा "सावधान बनास नदी की पुलिया टूटी हुई है, आगे रास्ता बंद है" बोर्ड लगाया गया । लेकिन काम पूर्ण होने पर पुनः पुलिया पर आवागमन सुचारू होने के 3 साल बाद भी विभाग की लापरवाही के चलते बोर्ड जैसा का तैसा लगा हुआ। जिसके चलते इस मार्ग से गुजरने वाले वाहन चालक भ्रमित हो रहे हैं और एक लंबी दूरी तय कर जाना पड़ रहा है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना