फर्जी मालिक बन 3 बीघा जमीन की करवा दी फर्जी रजिस्ट्री, जूनी बेगूं का बुजुर्ग चढ़ा पुलिस के हत्थे

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। ग्राम पालड़ी में स्थित किसी और की 3 बीघा जमीन को अपनी बताकर दूसरे के नाम रजिस्ट्री कराने के  एक मामले में सदर थाना पुलिस ने जूनी बेगूं के एक बुजुर्ग को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि मामले में अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है।  
सदर थाना पुलिस ने बीएचएन को बताया कि सांगानेर निवासी अब्दुल गनी पुत्र अहमदबक्ष जुलाहा (शेख) की पालड़ी में तीन बीघा जमीन है। इस जमीन  को अपनी व खुद को नीमच के घंटाघर के पास रहने वाला अब्दुल गफूर 75 पुत्र जमालुद्दीन शेख व अहमदबक्ष 51 पुत्र अब्दुल गफूर बताकर जमीन का सौदा सिराजुद्दीन सोरगर से कर दिया और इस जमीन की रजिस्ट्री भी सोरगर के नाम करवा दी। यह रजिस्ट्री 7 अक्टूबर 2020 को करवाई गई थी। 
इसका पता चलने पर जमीन के असली मालिक अब्दुलगनी ने सदर थाने में मामला दर्ज करवाया। मामले की जांच शुरू करते हुये पुलिस की टीम अब्दुल गफूर व अहमदबक्ष के रजिस्ट्री में लिखवाये गये एडे्रस घंटाघर के पास, नीमच पहुंची, जहां छानबीन करने पर पता चला कि इस नाम का कोई भी व्यक्ति वहां नहीं रहता है। नाम-पते और एडे्रस फर्जी पाये जाने के बाद पुलिस ने अपनेस्तर पर मुखबिरों की मदद से छानबीन शुरु की तो पता चला कि फर्जी रजिस्ट्री कराने वाला अब्दुल गफूर  जूनी बेगूं, चित्तौडग़ढ़ निवासी अब्दुल अजीज 68 पुत्र मोहम्मद अमीरुद्दीन था।  पुलिस ने अब्दुल अजीज को इस फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि मामले में अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस