राजस्थान हाईकोर्ट के इतिहास में पहली बार पति-पत्नी जज:डीजे शुभा मेहता की नियुक्ति को केन्द्र ने दी मंजूरी; एडवोकेट कुलदीप माथुर भी बने जज

 


जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट के इतिहास में पहली बार ऐसा देखने को मिलेगा जब पति-पत्नी हाईकोर्ट में जज के रूप में एक साथ काम करेंगे। केन्द्र सरकार ने राष्ट्रपति से मंजूरी मिलने के बाद आज राजस्थान हाईकोर्ट में दो जजों की नियुक्ति की है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मंजूरी मिलने के बाद एडवोकेट कुलदीप माथुर और जिला न्यायाधीश (डीजे) शुभा मेहता की नियुक्ति को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दी हैं।

इन दो नए जजों की नियुक्ति के साथ ही राजस्थान हाईकोर्ट में ये पहली बार है जब पति और पत्नी दोनो ही हाईकोर्ट के जज बने है। डीजे शुभा मेहता के पति जस्टिस महेन्द्र कुमार गोयल अभी राजस्थान हाईकोर्ट में जज हैं। लॉ में गोल्ड मेडलिस्ट जस्टिस गोयल 6 नवंबर 2019 को जज नियुक्त किए गए थे। जस्टिस महेन्द्र कुमार अधिवक्ता कोटे से राजस्थान हाईकोर्ट में जज बने थे। गोयल के पिता अनूप चंद गोयल भी राजस्थान हाईकोर्ट में जज रह चुके है।

अक्टूबर 2021 में की थी सिफारिश
जानकारों के मुताबिक अक्टूबर 2021 में सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने इन दोनों जजों के लिए राष्ट्रपति को सिफारिश की थी, जिसे राष्ट्रपति मंजरी दी थी। आज 2 नए जज बनने के बाद अब राजस्थान हाईकोर्ट में जजों की संख्या 25 से बढ़कर 27 हो जाएगी। वर्तमान में राजस्थान हाईकोर्ट में 50 पद जज के स्वीकृत है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू