कलर लैब संचालक का बेटे सहित अपहरण, दस लाख की मांगी फिरौती

 


भीलवाड़ा बीएचएन
शहर में गणेश प्लाजा स्थित अग्रवाल कलर लैब के संचालक व उसके बेटे का कार में आए लोगों ने अपहरण कर लिया और फिरौती के रूप में 10 लाख रुपए की मांग की है। आरोप है कि इससे पहले इन लोगों ने दुकान में रखे 10 हजार रुपए और कीमती सामान भी लूट लिया। भीमगंज पुलिस ने अपहृत के बेटे की 
रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया। पुलिस का कहना है कि अगवा बताए जा रहे पिता-पुत्र मिल गए हैं। दोनों पक्षों के बीच लेन-देन को लेकर विवाद की बात सामने आई है।
भीमगंज थाने के सहायक उप निरीक्षक कैलाश चंद्र ने बीएचएन को बताया कि सी सेक्टर शास्त्रीनगर निवासी अर्पित पुत्र विनोद अग्रवाल ने एक रिपोर्ट पेश की। जांच अधिकारी ने बताया   कि परिवादी के पिता के नाम से एक जायदाद स्थित है जिस पर प्लांट व मशीनें हैं। इस जायदाद का सौदा 7-8 साल पहले प्रभु सिंह से किया था जिसकी साई पेटे कुछ राशि प्रभुसिंह ने परिवादी के पिता को दी थी लेकिन प्रभु सिंह ने शेष राशि नहीं देकर जायदाद की रजिस्ट्री नहीं करवाई और न ही कोई किराया दिया। बिजली के बिल भी जमा नहीं करवाए। इस संबंध में प्रभु सिंह को अधिवक्ता के जरिये नोटिस भी जारी करवाया गया। दोनों पक्षों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। अर्पित का आरोप है कि प्रभु सिंह करणी सेना का सदस्य है व संगठन के मार्फत परिवार व उसके परिवार पर दबाव बनाना शुरू किया है। पिछले कई दिनों से बबलू सिंह, कुलदीप सिंह व एक अन्य व्यक्ति परिवादी के पिता को फोन पर व दुकान पर आकर धमकियां दे रहे हैं। उसका व परिवार के सदस्यों का पीछा करते हैं। इन धमकियों को लेकर परिवादी व परिजन परेशान थे। आज सुबह 10-10.30 बजे प्रभु सिंह, बबलू सिंह, कुलदीप चार-पांच लोगों को लेकर परिवादी की गणेश प्लाजा स्थित अग्रवाल कलर लैब में प्रवेश हो गए। गालीगलौच की, गल्ले से 10 हजार रुपए लूट लिए और जितना भी कीमती सामान कैमरा इत्यादि ले गए। आरोप है कि इन लोगों ने परिवादी, उसके भाई अंशुल व पिता विनोद अग्रवाल को अपने साथ चलने के लिए धमकाया और कहा कि शास्त्रीनगर स्थित घर से पत्नी व बच्चों को उठाकर ले जाएंगे और तब तक नहीं छोड़ेंगे जब तक कि रजिस्ट्री नहीं करवाई जाती और 10 लाख रुपए नहीं दे देते।
इसके बाद परिवादी के पिता और छोटे भाई अंशुल को अपनी अर्टिगा कार में बैठाकर अज्ञात स्थान पर ले गए। साथ ही परिवादी को धमकी दे गए कि अपने बाप व भाई की सलामती चाहते हो तो घर के कागजात और 10 लाख रुपए लेकर करणी सेना के ऑफिस आ जाना और बाप व भाई को ले जाना। पुलिस ने इस रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की।
जांच अधिकारी ने बताया कि अंशुल खुद ही थाने लौट आया। उसने पुलिस को बताया कि उसे अगवा कर गुलाबपुरा की ओर ले जाया गया। इस बीच, उसका भाई एसपी के समक्ष पेश हुआ और रिपोर्ट दी। इसके बाद आरोपितों ने उसे अजमेर हाइवे स्थित अंशल कॉलोनी के पास लाकर छोड़ दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद