बड़े भाई को गोली मारी, मौत

 


 अलवर.

 एक छोटे भाई ने बड़े भाई को जमीन बंटवारे में गोली मार दी। छोटे भाई की शादी हो जाए इसलिए पिता ने जमीन का बंटवारा नहीं किया था, इसी को लेकर बड़ा भाई का पिता और छोटे भाई से विवाद था। वह पिता के हिस्से में भी जमीन कब्जा करना चाहता था। इसी बात को लेकर दोनों भाई में झगड़ा हुआ छोटे ने बड़े भाई को गोली मार दी।

मामला अलवर जिले के नौगावां थाना के शेखपुर गांव का है। हत्या के बाद पुलिस ने सोमवार को बानसूर जंगलों से छोटे भाई को गिरफ्तार किया। पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे हुए। पूछताछ में सामने आया कि रामधन गुर्जर के दो बेटों में कुंवर गुर्जर (35) और सुखराम (23) के बीच लंबे समय से साढ़े चार बीघा जमीन को लेकर विवाद चल रहा था।

थाना प्रभारी सुनील टांक ने बताया कि 18 जून को कुंवर सिंह ने घर के आगे रास्ते की जमीन पर जुताई कर दी। इस कारण विवाद हो गया। सुखराम ने गांव से बाहर जाकर अपने बड़े भाई को सीने में गोली मार दी। इसके बाद वह बानसूर (अलवर) के जंगलों में छिप गया।
पिता का मानना था कि सुखराम कम पढ़ा-लिखा है। ऐसे उसकी शादी नहीं हो रही थी। यदि जमीन का पहले से बंटवारा कर दिया तो सुखराम के हिस्से में कम जमीन आएगी और उसकी शादी को लेकर भी कई अड़चनें आ सकती है। इसलिए, पिता ने सुखराम की शादी तक बंटवारा रोक दिया था। 

दोनों बेटों के जमीन को लेकर पहले भी विवाद और झगड़ा हो चुका है। इससे रामधन इतना परेशान हो गया कि वह दोनों बेटों से अलग गांव में ही दूसरी जगह घर लेकर रहने लगा। इतना ही नहीं बड़े बेटे की मौत के बाद भी वह अपने घर नहीं लौैटा।

रामधन भी खेती बाड़ी का काम ही करता है। लेकिन, घर के झगड़ों से परेशान होकर कई दिनों तक बाहर भी चला जाता था। अब पुलिस ने आरोपी सुखराम को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू