ससुराल से लौटकर डीजे संचालक ने किया सुसाइड

 


  भीलवाड़ा बीएचएन। ससुराल से लौटने के बाद डीजे संचालक ने अपने मकान के बंद कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मृतक परिवार में इकलौता और एक बेटी का पिता था। घटना जिले के शंभुगढ़ में हुई। पुलिस का कहना है कि खुदकुशी के कारण अभी सामने नहीं आये हैं। 
शंभुगढ़ थाने के दीवान उमराव अली ने बीएचएन को बताया कि शंभुगढ़ निवासी सुनील 30 पुत्र शांतिलाल शर्मा डीजे संचालक था। वह परिवार का इकलौता बेटा था। उसके माता-पिता भी नहीं है। सुनील, शादीशुदा और एक बेटी का पिता था। दस-पन्द्रह दिन से सुनील, पत्नी व बेटी के साथ ससुराल जालिया सैकंड में ही था। 
बुधवार को सुनील, ससुराल से अपने घर शंभुगढ़ लौट आया। उसने अपने मकान के एक कमरे में जाने के बाद दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। इसके बाद सुनील ने गले में रस्सी का फंदा डाला और टीटेबल पर प्लास्टिक की कुर्सी रखकर उपर चढ़ गया और कड़े से रस्सी बांध दी। इसके बाद लात मार कर टी-टेबल से कुर्सी को नीचे गिरा दिया। फांसी लगने से सुनील की मौत हो गई। उधर, बुधवार दोपहर में आस-पास के लोगों को सुनील के घर आने व इसके बाद दिखाई नहीं देने का आभास हुआ। पड़ौसी घर पहुंचे तो उसका कमरा बंद मिला। शंका के आधार पर अंदर देखा तो सुनील फंदे से झूलता मिला। ऐसे में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा खोलकर सुनील के शव को वीडियोग्राफी कराते हुये नीचे उतारा। इस बीच अंटाली से उसका जीजा, अन्य रिश्तेदार व गांव के लोग भी आ गये। पुलिस ने आसींद सीएचसी में पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। 
इससे पहले पुलिस ने मृतक के कपड़ों व कमरे की तलाशी ली, लेकिन वहां कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। ऐसे में पुलिस अब अपनेस्तर पर खुदकुशी के कारणों की जांच कर रही है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू