वकील ने खुद को आग लगाई, कोर्ट में घुसा, एसडीएम से लिपटने का प्रयास, अस्ताल में तोड़ा दम


सीकर 

 एक वकील ने एसडीएम कोर्ट में आग लगा ली। इस दौरान उसने एसडीएम को गले लगाने का प्रयास किया।एसडीएम उसे धक्का देकर भागे। इतने में उनके हाथ का कुछ हिस्सा जल गया।  वकील ने हर सुनवाई के लिए रिश्वत मांगने का एसडीएम आरोप लगाए/ 

गंभीर हालत को देखते हुए वकील को जयपुर रेफर किया गया था। उसके छोटे भाई लक्ष्मणराम ने बताया कि इलाज के दौरान SMS हॉस्पिटल में मौत हो गई। मामला सीकर के खंडेला का है। वकील के बैग में एक लेटर मिला है, जिसमें SDM राकेश कुमार पर हर केस के लिए पैसे मांगने का आरोप लगाया है।

 रानौली थाना क्षेत्र के नांगल अभयपुरा का रहने वाला वकील हंसराज मावलिया (40) पिछले 10 साल से वकालत कर रहा था। गुरुवार दोपहर करीब ढाई बजे SDM राकेश कुमार अपने कार्यालय के अंदर चैंबर में बैठे थे। इसी दौरान बाहर हंसराज ने खुद को आग लगाई और अंदर आ गया। उसने ऑफिस का दरवाजा पहले ही बंद कर दिया था।

एसडीएम  राकेश ने जैसे ही उसे अंदर आते देखा खड़े हो गए। हंसराज ने उन्हें पकड़ने का प्रयास किया। उसे धक्का मारकर पीछे किया। उनका हाथ भी झुलस गया। गंभीर रूप से झुलसे वकील को तुरंत खंडेला के हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां से जयपुर रेफर कर दिया गया था। एसडीएम राकेश कुमार का इलाज खंडेला हॉस्पिटल में चल रहा है।

 एसडीएम राकेश कुमार ने बताया- गुरुवार को पंचायत समिति में जनसुनवाई थी। मैं जनसुनवाई में गया हुआ था। जनसुनवाई पूरी करके कोर्ट में आने के बाद हंसराज किसी मुकदमे में बहस करने को लेकर अगली तारीख लेकर गया था। कुछ समय बाद ही उसने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली। कोर्ट के सभी दरवाजे बंद कर कर एसडीएम कोर्ट में जा घुसा। उस समय एसडीएम कोर्ट में एक अन्य वकील भी किसी मुकदमे में पैरवी कर रहा था।

  वकील को आग से घिरा हुआ देख कोर्ट में अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने वकील को रोकने की कोशिश की, किंतु हंसराज एसडीएम के पास जा पहुंचा। आग इतनी भयंकर थी कि कोर्ट में चारों तरफ धुआं-धुआं हो गया। कोर्ट में मौजूद एक अन्य वकील का दम घुटने लगा, तब उसने बाहर जाने की कोशिश की। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड और मेडिकल टीम मौके पर पहुंची। आग पर काबू पाया गया और घायलों को खंडेला हॉस्पिटल ले जाया गया थ  स्थानीय लोगों की मानें तो वकील हंसराज मावलिया कुछ दिनों से डिप्रेशन में था। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मौके पर मावलिया के बैग से पॉलीथिन में पेट्रोल और कीटनाशक दवा की बोतल बरामद हुई है। एक लेटर भी मिला है, जिसमें एसडीएम पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वकील ने लिखा है कि हर केस के लिए एसडीएम राकेश कुमार रिश्वत मांगते थे। 

  बेबुनियाद आरोप

खंडेला थानाधिकारी घासीराम मीणा ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा- यदि सुसाइड नोट में मेरे बारे में कुछ ऐसा लिखा हुआ है, तो वह गलत है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

कार खड़े ट्रक से टकराई भीलवाड़ा के एक ही परिवार के तीन लोगों सहित 4 व्यक्तियों की मौत

फार्म हाउस पर छापा, भीलवाड़ा -चित्तौड़गढ़ जिले के 31 जुआरी गिरफ्तार सात लाख से ज्यादा की नकदी बरामद

कपड़ा व्यवसायी के घर चल रहा था सेक्स रैकेट , 2 लड़कियां सहित 6 हिरासत में