विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल का कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन, कटरता और हिंसा फैलाने वालों पर कार्रवाई की मांग

 


 भीलवाड़ा Sampat Mali.

 देश में बढ़ रही पत्थरबाजी की घटनाओं के विरोध, कटरता और हिंसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई और भाजपा नेता नूपुर शर्मा के समर्थन में आज विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के आह्वान पर वस्त्रनगरी में कलेक्ट्रेट पर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन को देखते हुये पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये। 
विहिप के विभागमंत्री गणेश प्रजापत और जिला मंत्री विजय ओझा, उपाध्यक्ष ओमप्रकाश अग्रवाल के नेतृत्व में गुरुवार को बड़ी संख्या में लोगों ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर प्रदर्शन और नारेबाजी की। विहिप के ज्ञापन में कहा गया है कि  देशभर में जेहादी कट्टरता बढ़ती जा रही है। योजनापूर्वक हिंदुओं पर हमले किये जा रहे हैं। शोभायात्रा पर हमले व पथराव किये गये। श्री हनुमान जन्मोत्सव की शोभायात्राओं पर भी पथराव हुआ। 
हाल ही में  नूपुर शर्मा व नवीन जिंदल के बयान को लेकर गत दो शुक्रवारों को जुम्मे की नमाज के बाद हमले किये गये। घरों, दुकानेां व वाहनों को आग लगा दी गई। शासकीय संपति व मंदिरों को भी भारी नुकसान पहुंचाया। पुलिस बलों पर हमले हुये। जिला कलेक्ट्रेट पर आयोजित प्रदर्शन में हिंदू संगठनों  ने  भाग लेकर अपना आक्रोश व्यक्त किया। 
प्रदर्शन के बाद विहिप की ओर से राष्ट्रपति के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन दिया, जिसमें सभी सात सूत्रीय मांगों पर शीघ्र निर्णय लेकर कठोर कार्रवाई की मांग की गई। इस दौरान कलेक्ट्रेट में अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया। यहां सीओ सिटी नरेंद्र दायमा , डीएसपी राहुल जोशी, कोतवाल सूर्यभान सिंह, प्रताप नगर थाना प्रभारी राजेंद्र गोदारा, सीआई शिल्पा भादविया, गजेंद्र सिंह नरुका, पुर थाना प्रभारी शिवराज गुर्जर  सहित पुलिस जाब्ता मौजूद रहा।

ज्ञापन में ये की गई मांग
दंगाइयों की पहचान कर उन पर रासूका के तहत कार्रवई की जाये। 17 जून को निगरानी की जाये। जेहादी भाषण देने से रोका जाये। भड़काने वालों की पहचान कर उन पर भी रासूका लगाकर जिलाबदर की कार्रवाई की जाये। देशभर में जहरीले भाषण देने वालों को चिन्हित कर उन पर कार्रवाई करने, जिन मस्जिदों व मदरसों से भीड़ निकल रही, उनकी जांच एनआईए से करवाई जाये, पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया, व तबलीगी जमातजैसे कट्टरपंथी संगठनों पर अविलंब प्रतिबंध लगाया जाये, जिन स्थानों पर हिंदू अल्प संख्यक है, वहां उनकी सुरक्षा की व्यवस्था की जाये व अनिवार्य रुप से पुलिस चौकी स्थापित कर वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को पर्याप्त सुविधायें व अधिकार दिये जायें। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना