सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम्स की हालत खस्ता

 


भीलवाड़ा बीएचएन।

भारतीय सांस्कृतिक निधि इंटेक के भीलवाड़ा चेप्टर संयोजक बाबूलाल जाजू ने बताया कि जिले में करोड़ों की लागत से बने 90 प्रतिशत सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की हालत खस्ताहाल है। जिससे वर्षा का पानी व्यर्थ में बह जाता है। कहने व गिनाने को एक भी भवन ऐसा नहीं है जहां सरकार की वाटर हार्वेस्टिंग योजना सही से अमल में लाई जा रही हो, जिससे सरकार की वर्षा के जल को बचाने की योजना खटाई में पड़ गई है। जाजू ने आज एक प्रेस वक्तव्य जारी कर कहा कि करोड़ो रूपया खर्च कर सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम्स बनाये गये थे, लेकिन छतों से टैंक में जाने वाले पाईप व बैण्ड टूटे होने से वर्षा का जल टैंक में पहुंच नहीं पा रहा है और व्यर्थ बह रहा है।

जाजू ने जिला कलेक्टर भीलवाड़ा का ध्यान आकृष्ट किया कि सभी सरकारी कार्यालयो, विद्यालयो, चिकित्सालयो व अन्य सरकारी इमारतों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को ठीक कराएं ताकि वर्षा के अनमोल जल को बचाया जा सके। जाजू ने कहा कि यदि समय रहते वाटर हार्वेस्टिंग के पाईप, छतों की सफाई व हार्वेस्टिंग का संपूर्ण सिस्टम ठीक नहीं किया तो इस वर्ष भी वर्षा का करोड़ो लीटर जल व्यर्थ बह जायेगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना