कुवैत में कार्यरत श्रमिकों की समस्या को लेकर सांसद से की भेंट

 डूंगरपुर (विवेक पाराशर) प्रतिनिधि मंडल में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश मंत्री अमृत कलासुआ, करोली ग्राम पंचायत के सरपंच बलशंकर मनात, कुवैत में कार्यरत समाज सेवी जयंती लाल पटेल व हथोड बूथ अध्यक्ष पंकज पटेल आदि ने सांसद को बताया कि रोजी रोटी के लिए वागड़ क्षेत्र से कुवैत गए श्रमिकों के कोविड 19 महामारी में फसे लोगो को शीघ्र अपने घर लाने की व्यस्था करावे। साथ ही सांसद से निवेदन किया कि कुवैत के नियम अनुसार 6 माह (180 दिन) के भीतर इकामा लगवाना आवश्यक होता है अन्यथा उक्त व्यक्ति की वीज़ा समाप्त हो जाती है।
 भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश मंत्री अमृत कलासुआ ने बताया की वागड़ के कई श्रमिक होली के अवसर पर अपने घर आए थे, किन्तु होली के पश्चात लॉकडाउन के चलते वो 180 दिन के भीतर नहीं जा पाए हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें नया विसा बनवाना पड़ेग। जिसका खर्चा 2 से 4 लाख रुपए हो सकता है। ऐसी स्थिति में गरीब को अतिरिक्त आर्थिक भार भी वहां करना होगा। ऐसी स्थिति में विदेश मंत्रालय में संपर्क कर नियमो में शिथिलता दिलवाकर राहत पहोचने का आग्रह किया। संसद ने आश्वासन दिया कि उक्त समस्या के बारे मे विदेश मंत्रालय को अवगत कराएंगे। सांसद कटारा ने भी प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया की इस समस्या को आगे पहुंचा कर इसका समुचित समाधान निकाल कर वागड़ वासियों को राहत दिलाने का काम सरकार करेगी। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना