लॉकडाउन में 11 घोड़ों की मौत, 3 क्वारंटीन, लोग डरे

  इंदौर से सटे बेटमा में कोरोना के अलावा पशुओं में फैली बीमारी भी लोगों को परेशान कर रही है। लॉकडाउन के दौरान एक ही परिवार के 9 और दूसरे परिवार के 2 घोड़ों की मौत हुई है। बेटमा में कुल 11 घोड़ों की मौत हो गई है। इसके साथ ही यहां 3 घोड़ों को गांव के खेत में क्वारंटीन किया गया है। कोरोना के कहर के बीच लगातार हो रही घोड़ों की मौत से लोग डरे हुए हैं।
हालांकि 11 घोड़ों की मौत के पीछे की वजह निमोनिया और ग्लैडर जैसी बीमारी को बताया जा रहा है। उसके बावजूद भी लोग डरे हैं। क्योंकि घोड़ों की मौत कैसे हुई, इसकी कोई रिपोर्ट नहीं आई है। ऐसे में डर है कि कहीं कोरोना तो नहीं। लगातार हो रही घोड़ों की मौत के बाद वहां पहुंचीं डॉक्टर स्वाति कौल ने मीडिया को बताया कि इनके सैंपल हमने जांच के लिए हिसार की प्रयोगशाला में भेजे हैं।  


जानकारी के अनुसार हरियाणा के हिसार स्थित लैब में सैंपल जांच के लिए 1 महीना पूर्व ही भेजा गया है। लेकिन अभी तक वहां से रिपोर्ट नहीं आई है। ऐसे में पशु विभाग की लापरवाही भी साफ दिख रही है। क्योंकि डॉक्टर भी लक्षण के आधार पर ही घोड़ों की बीमारी को बता रहे हैं। जब तक टेस्ट की रिपोर्ट आ नहीं जाती है, तब तक बीमारी का पता लगाना मुश्किल है।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना