Thursday, April 15, 2021

दो जवानों की जान लेने वाले 11 थे बदमाश, अफीम दूध की बड़ी खैप ले जा रहे थे मारवाड़, सभी नामजद हुये, लेकिन पकड़ से दूर

 भीलवाड़ा / जोधपुर। भीलवाड़ा पुलिस के दो कांस्टेबल की गोली मारकर हत्या करने वाले बदमाशों की संख्या 11 थी और इन सभी बदमाशों की जांच टीमों ने पहचान भले ही कर ली है, लेकिन वे अब तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाये हैं।  सभी अपने ठिकानों से गायब हैं। ऐसे में पुलिस ने इनके करीबी रिश्तेदारों को डिटेन कर बदमाशों पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है।
बता दें कि पिछले दिनों भीलवाड़ा जिले की कोटड़ी थाना पुलिस को मादक पदार्थ तस्करी की सूचना मिली। इस पुलिस बिना समय गंवायें तस्करों को दबोचने इलाके में पहुंच गये और इसी दौरान तस्करों के चार वाहन वहां पहुंच गये। पुलिस को देखकर तस्करों ने फायरिंग कर दी। इसके चलते कोटड़ी थाने का कांस्टेबल औंकार रायका शहीद हो गया। यहां से ये तस्कर बेखौफ होकर निकल गये और इसके बाद लिरडिय़ाखेड़ा क्षेत्र में इनका सामना तस्करों से हो गया।  जहां भी इन बेखौफ तस्करों ने फायरिंग की और इस दौरान रायला थाने का कांस्टेबल पवन चौधरी शहीद हो गया।  इसके बाद भी पुलिस को गच्चा देकर बदमाश भाग निकले। इसके बाद लिरडिय़ा खेड़ा रोड़ पर तस्करों की एक पिकअप, जबकि राजसमंद जिले में स्कॉर्पियो लावारिस हालत में मिली थी। 
दो जवानों की शहादत को पुलिस महानिदेशक ने गंभीरता से लेते हुये इनकी धरपकड़ के लिए एसओजी, भीलवाड़ा व जोधपुर पुलिस को लगाया गया है। जोधपुर व आस-पास के ग्रामीण इलाकों में मंगलवार मध्यरात्रि फिर छापेमारी कर आरोपियों के परिजन व करीबियों को पूछताछ के लिए डिटेन किया गया। उधर, हत्यारों की धरपकड़ के लिए भीलवाड़ा पुलिस के साथ ही जोधपुर और एसओजी ने तस्करों के कुछ और ठिकानों पर दबिशें दी गईं।  

इन इलाकों के हैं नामजद किये आरोपित 
सूत्रों का कहना है कि पुलिस के दो कांस्टेबलों की हत्या में 11लोगों के शामिल होना माना जा रहा है। अब तक ये 11 लोग नामजद कर लिये गये हैं।  ये आरोपित जोधपुर, बाड़मेर व पाली के   बताये गये हैं। इनमें डांगियावास के नजदीकी गांव मतवालों की ढाणी, डोली, पाली जिले के शिवपुरा के भाणिया गांव, पीपाड़ शहर थाना इलाके के कूड़ गांव के दो युवक, बाड़मेर, भोपालगढ़ में नांदिया, लाम्बा और बिलाड़ा के पास केरियों की ढाणी के रहने वाले हैं। इनमें से एक आरोपित जो कूड़ गांव का एक बदमाश पैरोल से फरार बताया जा रहा है। 

अफीम दूध की खेप ले जा रहे थे बदमाश 
 तस्करों का यह गिरोह पिछले दिनों मारवाड़ से मेवाड़ व मध्यप्रदेश गई थी। वहां से अफीम के दूध की बड़ी खेप की खरीद-फरोख्त कर 10 अप्रेल की रात वहां से मारवाड़ के लिए रवाना हो गये। ये बदमाश एक एसयूवी व दो कारों में सवार थे। भीलवाड़ा में पुलिस के पीछा करने पर एके-47 से फायरिंग कर दोनों कांस्टेबल की हत्या कर भाग गए थे।