Saturday, April 17, 2021

मील का पत्थर दूरी को दर्शा रहा दो गुना अधिक

राशमी (कैलाश चन्द्र सेरसिया)। सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा भी समय-समय पर ऐसी गलतियां की जाती हैं जिसे देखकर लोगों को आश्चर्य होता है। अब जगह-जगह लगाए गए मील के पत्थरों को ही ले लें। कहीं-कहीं तो इतनी गलती है कि लोग हैरत में पड़ जाएं। ऐसी ही एक गलती उपखंड मुख्यालय पर इंडेन गैस आफिस से कुछ दूरी पर लगे मील के पत्थर में भी दिखी। यहां से राशमी की दूरी महज एक किलोमीटर है जबकि मील के पत्थर पर इसे 3.5 किलोमीटर दिखाया गया है।  मील के पत्थर  पर अंकित 3.5 किलोमीटर की दूरी को देखकर वाहन चालक भ्रमित होते है।

 

गजब है... नकली रेमडेसिविर लेने से ठीक हो गए 90 फीसदी कोरोना मरीज, पुलिस भी हैरान

  भोपाल ।कोरोना की दूसरी लहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग में एका-एक बढ़ोतरी हो गई है। हालांकि, इस बीच कई राज्यों में नकली रेमडेसिविर बेच...