मील का पत्थर दूरी को दर्शा रहा दो गुना अधिक

राशमी (कैलाश चन्द्र सेरसिया)। सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा भी समय-समय पर ऐसी गलतियां की जाती हैं जिसे देखकर लोगों को आश्चर्य होता है। अब जगह-जगह लगाए गए मील के पत्थरों को ही ले लें। कहीं-कहीं तो इतनी गलती है कि लोग हैरत में पड़ जाएं। ऐसी ही एक गलती उपखंड मुख्यालय पर इंडेन गैस आफिस से कुछ दूरी पर लगे मील के पत्थर में भी दिखी। यहां से राशमी की दूरी महज एक किलोमीटर है जबकि मील के पत्थर पर इसे 3.5 किलोमीटर दिखाया गया है।  मील के पत्थर  पर अंकित 3.5 किलोमीटर की दूरी को देखकर वाहन चालक भ्रमित होते है।

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !