Saturday, April 17, 2021

अवैध शराब की दुकान चलाते सिपाही गिरफ्तार


कोटा। आबकारी विभाग का सिपाही सुरेन्द्र कुमार ने शराब ठेकेदार को लाभ पहुंचाने तथा दूसरे ठेकेदार को नुकसान पहुंचाने के लिए अवैध रूप से शराब का ठेका चला रहा था। सिपाही की अंग्रेजी दुकान के ठेकेदार के साथ साझेदारी की बात सामने आई है। इसकी विस्तृत जांच करवाई जा रही है। इस संबंध में एक ऑडियो भी पुलिस के हाथ लगा है। पुलिस ने बुधवार देर रात अवैध देशी शराब के 183 कार्टून यानी 8 हजार 784 पव्वे, बेची गई शराब की तीन सौ रुपए की रकम के साथ आबकारी विभाग के सिफाही सुरेन्द्रकुमार को गिरफ्तार कर लिया है। कुन्हाड़ी थानाधिकारी गंगासहाय शर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर जारी की गई गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए गश्त करते हुए कुन्हाड़ी पेट्रोल पम्प के सामने पहुंचे। जहां पर मुखबीर से सूचना मिली की रजत सिटी के सामने देशी व अंग्रेजी शराब के ठेके के पास बने मकान के गेट पर एक व्यक्ति शराब की अवैध बिक्री कर रहा है। थानाधिकारी जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे, जहां दो- तीन व्यक्ति नजर आए। जिनको रोकने का प्रयास किया तो वह भागने में सफल हो गए। लेकिन एक युवक पकड़ में आ गया। पुलिस ने पकड़े गए व्यक्ति का नाम पूछा तो उसने सुरेन्द्र कुमार यादव पुत्र बनवारी लाल यादव निवासी गादवास थाना शाहजहापुर जिला अलवर बताया। उसके सामने रखे एक कागज के एक कार्टून को चैक किया तो उसमे देशी सादा मदिरा नींब के 48 पव्वे भरे मिले तथा सुरेन्द्रकुमार ने भी शराब बिक्री करना स्वीकार कर लिया। तलाशी में उसके पास तीन सौ रुपए मिले, जो शराब बिक्री की राशि थी। आरोपी सुरेन्द्र कुमार वर्तमान में आबकारी विीााग थाना कोटा दक्षिण में सिपाही के पद पर कार्यरत है। पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने मकान को शराब के भण्डारण के लिए गोदाम बनाने की बात कबूल की। इस पर मकान की तलाशी ली गई। जिसमें एक कमरे में देशी शराब की कुल 182 पेटियां मिली। जिसमें 8 हजार 784 पव्वे रखे हुए थे, जिसे जब्त कर लिया गया। आरोपी के खिलाफ एक्साइज एक्ट में प्रकरण दर्ज किया गया है। आरेापी सुरेन्द्र कुमार से इतनी अधिक मात्रा में अवैध शराब का किराये के मकान में भण्डारण कर बेचने के संबंध में गहनता से अनुसंधान किया जा रहा है