मनरेगा मजदूर हो रहे है सचिव की मनमर्जी का शिकार

 

 माण्डल (चन्द्र शेखर तिवाड़ी)  गुरूवार को उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत लुहारिया में मनरेगा मजदूर अपना नाम मस्टरोल में आवेदन के लिए धूप में मनरेगा सचिव का इंतजार में राजीव गांधी सेवा केन्द्र लुहारिया  पर चक्कर काटने को मजबूर है। समाजसेवी भेरू लाल सालवी(सरपंच पति) ने बताया कि रोजगार के लिये आवेदन करने वाले व्यक्ति सचिव सुरेश चन्द्र खटीक की मनमर्जी का शिकार हो रहे हैं। आरोप है कि ग्राम पंचायत लुहारिया सचिव ने अपने चेहतो लोगों के  नाम लिखे हैं। अभी करीब 200 जरूरतमंद लोगों के नाम अभी बाकी है।  अभी पता चला है कि सचिव साहब माण्डल गये हैं।  कुछ  मजदूरों ने बताया कि हम पिछले 2-3दिन से राजीव गांधी सेवा केन्द्र लुहारिया पर चक्कर काट रहे  हैं।हमारे को सचिव ने बोला है कि बुधवार को कुछ लोगों के नाम लिखे हैं। कल सुबह ओर नाम लिखे जायेंगे। उसी के इंतजार सुबह जल्दी ही अपनी बारी के इंतजार में राजीव गांधी सेवा केन्द्र लुहारिया पर है। पता नहीं कब सचिव साहब आएंगे व हमारा नाम लिखेंंगे। खेत पर गेहूं काटना है व मौसम भी खराब हो रहा है पर साहब के इंतजार को मजबूर है।

मनरेगा सचिव का कहना है कि-जिन लोगों का मनरेगा आवेदन हो गया है । उनकी लिस्ट बनाकर माण्डल आ गया हूं। शनिवार व रविवार की छुट्टी होने की वज़ह से जो लोग बचे हुए हैं उनके नाम पिछले मस्टरोल या  आवेदन फार्म  कल या आज ही कम्पलीट कर लिया जायेगा।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक