मां बीमार, कोई संभालने वाला नहीं, लेकिन तेजाराम भीलवाड़ा कोरोना से मुक्त होने के बाद ही घर जाएंगे

भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना के संक्रमण के चलते पुलिस प्रशासन व मेडिकल टीमों सहित कई विभागों के कर्मचारी कोरोना फाइटर के रूप में सेवाएं दे रहे हैं। वहीं कृषि विज्ञान केंद्र के वाहन चालक व कोरोना फाइटर तेजाराम इन सबसे एक कदम आगे हैं। जयपुर जिले के पृथ्वीपुरा गांव निवासी तेजाराम 22 मार्च से कोरोना फाइटर के रूप में भीलवाड़ा में सेवाएं दे रहे हैं।
तेजाराम बताते हैं कि उनके घर पर मां अकेली हैं और वह भी बीमार है। उनकी सेवा करने वाला कोई नहीं है। तेजाराम कहते हैं कि इस समय उनके लिए मां की देखभाल से ज्यादा अपना फर्ज महत्वपूर्ण है। वे कहते हैं कि उन्होंने यह ठाना है कि जब तक भीलवाड़ा कोरोना से पूरी तरह मुक्त घोषित नहीं हो जाता वे घर नहीं लौटेंगे। तेजाराम ने भीलवाड़ा हलचल के माध्यम से लोगों से अपील की कि कोरोना से बचने के लिए सभी अपने घरों में रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क लगाएं और सैनेटाइजर का उपयोग करें। भीलवाड़ा हलचल का ऐसे कोरोना फाइटर को सलाम।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना