देवनारायण मन्दिर में भादवी छठ पर हुई पूजा अर्चना

 

भीलवाड़ा (हलचल) भादवी छठ के अवसर पर आज भीलवाड़ा शहर के समीप स्‍मृती वन के पास स्थित देव डुंगरी पहाडी पर बने देवनारायण मन्दिर में विशेष पुजा अर्चना की गयी। यह मन्दिर अतिप्राचीन है और यहां पर आज भी उस समय के शिलालेख और फड पेन्टिंग की मौजूद है। लोक मान्‍यता है कि भगवान देवनाराण अपने बचपन में ननिहाल जाते वक्‍त यहीं रूककर बाल लिलाऐं की थी। इस दौरान घोड की पुजा करके मन्दिर पर झण्‍डा भी चढाया गया। इस पहाडी से भीलवाड़ा शहर और हरणी महादेव क्षैत्र का विंहगम दृश्‍य दिखायी देता है। 
               मन्दिर के पुजारी किशन लाल सालवी ने कहा कि भगवान देवनारायण जब अपने ननिहाल जा रहे थे तब वह यहां पर रूके थे। जिसके कारण यहां पर सैंकडों वर्ष पूर्व यह मन्दिर बनाया गया था। मन्दिर में देवनारायण भगवान की लीलाओं के ऊपर एक फड चित्र भी दिवारों पर बनाये गये है। मन्दिर में एक प्राचीन शिलालेख भी है लेकिन पुरानी लिखावट होने के कारण इसे कोई पढ नहीं पाया है। वहीं मन्दिर की बनावट भी प्राचीन शैली है। यहां पर साल में भादवी छठ और माही सप्‍तमी को विशेष पुजा अर्चना की जाती है।  



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना