कर्फ्यू के दौरान दिनदहाड़े हुई उमेद सिंह की हत्या, दोषि‍यो का पुलिस के हाथ नहीं लगा कोई सुराग

राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) राजनगर पुलिस थाना क्षेत्र के सेवाली निवासी उमेद सिंह पिता धीर सिंह उम्र 65 वर्ष मंगलवार  हुआ मर्डर कांड  दोषियों का नहीं चला अब तक कोई पता, शव का आर के अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंपा।


प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक नादाना (मारवाड़)निवासी हाल से वाली उमेद सिंह पिता धिर सिंह(65) अपने ससुराल में ही रह रहा था जिसका अज्ञात लोगों ने हाथ पैर बांधते हुए गला दबाकर हत्या कर दी गई। पुलिस के अनुसार वारदात के दौरान जब तक अपने घर पर अकेला ही था। प्रथम दृश्या लूट की नीयत से वारदात को अंजाम दिया गया है । मृतक के हाथ पैर बंधे हुए मिले तथा घर के सामान बिखरे हुए मिले। वारदात को तब अंजाम दिया गया जब मृतक के परिवार वाले घर से बाहर गए हुए थे ।मृतक के पुत्र ने मोबाइल से संपर्क किया जवाब नहीं मिलने पर परिचित को घर भेजा गया तब घटना कि जानकारी हुई। घटना की जानकारी मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण यादव , अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता, डीएसपी गोपाल सिंह भाटी, राजनगर थाना अधिकारी प्रवीण टाक मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। घटनास्थल पर पहुंची एफएसएल टीम ने आवश्यक साक्ष्य जुटाये। पुलिस ने अब तक के शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए मंगलवार को ही आर के अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। वही बुधवार को मेडिकल बोर्ड की टीम से पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंपा गया।


खबर लिखे जाने तक उम्मेद सिंह  हत्याकांड के दोषी 24 घंटे के उपरांत भी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आए  वही मृतक के घर से लगभग 300 मीटर की दूरी पर नेशनल हाईवे 8 पुलिस चेक पोस्ट    सेवाली घाटी पर पुलिसकर्मी हमेशा तैनात रहते हैं पर इस बार 15 अगस्त दोपहर बाद लगे कर्फ्यू में सेवाली घाटी पर नहीं थे कोई पुलिसकर्मी  तेनात।लॉकडाउन एवं कर्फ्यू के दौरान दिनदहाड़े हुई हत्या एवं लूटपाट की जांच में पुलिस अलग-अलग टीमें बनाकर जुटी हुई है।


इनका कहना :- पुलिस अपनी जांच में अलग-अलग टीमें बनाकर जांच में जुटी हुई है अब तक नहीं लगा कोई सुराग। सेवाली स्थित घाटी चेक पोस्ट पर कोई पुलिस जवान तैनात नहीं था बजरंग चौराहे पर चेक पोस्ट के दौरान जवानों की ड्यूटी लगी हुई है। 


-प्रवीण टाक, थानाधिकारी राजनगर 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग