कोरोना को हराने के लिए पीएम मोदी ने दिया 72 घंटा वाला मंत्र,

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा कर कोरोना वायरस महामारी की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की और कहा कि इस लड़ाई में देश सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई इस बैठक में आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडू, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, पंजाब, बिहार, गुजरात, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से जमीनी स्थिति का जायजा लेने के बाद प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि अगर सभी मिलकर इन राज्यों में कोरोना को हराने में सफल हो जाते हैं तो देश भी जीत जाएगा। इस दौरान पीएम मोदी ने यह भी बताया कि दिल्ली में किस तरह जीत मिली है और दूसरे राज्यों में कैसे 72 घंटे वाला टारगेट कारगार हो सकता है।


पीएम मोदी ने कह, ''विशेषज्ञ अब ये कह रहे हैं कि अगर हम शुरुआत के 72 घंटों में ही कोविड-19 मामलों की पहचान कर लें, तो ये संक्रमण काफी हद तक धीमा हो जाता है। हमारा अब तक का अनुभव कहता है कि रोकथाम, संक्रमितों के संपर्कों का पता लगाना और निगरानी कोविड-19 के खिलाफ सबसे प्रभावी हथियार हैं।''


पीएम ने बताया दिल्ली में कैसे मिली जीत
यूपी, हरियाणा के कुछ जिले और दिल्ली में एक ऐसा कालखंड आया कि बड़ी चिंता का विषय बन गया। सरकार ने भी दिल्ली में ऐसी घोषणा की कि लग रहा था कि बड़ा संकट आएगा। फिर मैंने एक रिव्यू मीटिंग की और गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में एक टीम बनाई और नया अप्रोच बनाया। बहुत बड़ी मात्रा में हम जो चाहते थे वह परिणाम ला पाए। मैं समझता हूं कि कितना ही बड़ा चित्र दिखता हो लेकिन हम सिस्टैमैटिक रूप से बढ़ते हैं तो चीजों को हम हफ्ते 10 दिन में अपनी तरफ मोड़ सकते हैं। मुख्य बिंदु यही है कि कंटेमेंट जोन को पूरी तरह अलग कर देना, जरूरी हो तो माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाना। 100 फीसदी स्क्रीनिंग करना। रिक्शा, ऑटो चालक और घरों में काम करने वाले लोग और अन्य हाई रिस्क वाले लोगों की स्क्रीनिंग पूरी कर लेनी चाहिए। आज इन प्रयासों का परिणाम हमारे सामने है।



 


10 राज्यों में 80% केस
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ''आज 80 प्रतिशत एक्टिव मामले इन दस राज्यों में हैं, इसलिए कोरोना के खिलाफ लड़ाई में इन सभी राज्यों की भूमिका बहुत बड़ी है। आज देश में एक्टिव मामले 6 लाख से ज़्यादा हो चुके हैं, जिनमें से ज़्यादातर मामले हमारे इन दस राज्यों में ही हैं।''


टेस्टिंग में वृद्धि-मृत्युदर में कमी
पीएम मोदी ने कहा, ''टेस्टिंग की संख्या बढ़कर हर दिन 7 लाख तक पहुंच चुकी है और लगातार बढ़ भी रही है। इससे संक्रमण को पहचानने और रोकने में जो मदद मिल रही है, आज हम देख रहे हैं। हमारे यहां औसत मृत्यु दर पहले भी दुनिया के मुक़ाबले काफी कम थी, संतोष की बात है कि ये लगातार और कम हो रही है।''


10 राज्य मिलकर दिला सकते हैं करोना पर जीत
पीएम मोदी ने कहा, ''आज देश में सक्रिय मामले छह लाख से ज्यादा हो चुके हैं, जिनमें से ज़्यादातर मामले हमारे इन 10 राज्यों में ही हैं। इसीलिए ये आवश्यकता थी कि ये दस राज्य एक साथ बैठकर समीक्षा करें, चर्चा करें। आज की इस चर्चा से हमें एक दूसरे के अनुभवों से काफी कुछ सीखने समझने को मिला भी है।'' मोदी ने कहा कि आज की बैठक का एक भाव यह निकलकर आया है कि सभी मिलकर अपने इन दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगा।


'कारगार साबित हो रहे प्रयास'
प्रधानमंत्री ने इस बात पर संतोष जताया कि जहां सक्रिय मामले कम हो रहे हैं वहीं ठीक होने की दर भी बढ़ी है। इससे होने वाली मृत्यु दर में भी कमी आई है। उन्होंने कहा कि देश में मृत्यु दर पहले भी दुनिया के मुक़ाबले काफी कम थी और संतोष की बात है कि ये लगातार और कम हो रही है। पीएम ने कहा, ''इसका अर्थ है कि हमारे प्रयास कारगर सिद्ध हो रहे हैं। सबसे अहम बात है, कि इससे लोगों के बीच भी एक भरोसा बढ़ा है, आत्मविश्वास बढ़ा है, और डर भी कुछ कम हुआ है।''


इन राज्यों को टेस्टिंग बढ़ाने का निर्देश    
पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार, गुजरात, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर दिया।


राज्यों ने पैकेज की मांग की    
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बैठक में अधिकतर मुख्यमंत्रियों ने कोविड महामारी के मद्देनजर अपने-अपने राज्यों की अर्थव्यवस्था की हालत का जिक्र करते हुए केंद्र सरकार से आर्थिक पैकेज की मांग की। बैठक के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आर्थिक पैकेज की मांग की। ट्वीट के मुताबिक सिंह ने एसडीआरएफ के तहत कोरोना संबंधी खर्चों के लिए रखी गई शर्तों में लचीलापन लाने का आग्रह किया और केंद्र सरकार के जांच केंद्रों में कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाने का भी आग्रह किया।


देश में करीब 70 फीसदी हो चुके ठीक
देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सामने आने वाले मरीजों की संख्या में कमी आई है और मंगलवार को यह आंकड़ा 53,601 रहा। देश में पिछले चार दिन से लगातार 60,000 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मंगलवार को सामने आए 53,601 नए मरीजों के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 22,68,675 हो गई है। वहीं, संक्रमण से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 15,83,489 हो गई है जिससे देश में स्वस्थ होने की दर भी 69.80 फीसदी हो गई है।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग