मौत कर रही थी इंतजार, घर में घुसते ही भरभरा कर गिरी बालकनी

 

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर शहर के बलदेव नगर निवासी अशोक माथुर अपने घर की बालकनी के नीचे पहुंचे ही थे कि बालकनी भरभरा कर गिर गई। इस हादसे में मुरारीलाल माथुर की मौत हो गई। अचानक दबे पांव अपने ही घर में आई मौत का एक सीसीटीवी वीडियो भी सामने आया है। बलदेव नगर में भंडारी अस्पताल के पीछे तीस साल पुराने इस मकान की रविवार सुबह बालकनी गिरने से राजस्थान डेयरी के कैमिस्ट की मृत्यु हो गई। मृतक बालकनी के नीचे खड़े होने से चपेट में आ गए।



देवनगर थाना पुलिस ने बताया कि बलदेव नगर में भंडारी अस्पताल के पीछे निवासी माथुर (५९) सुबह दस बजे मकान के बरामदे में खड़े थे तभी अचानक बरामदे के ऊपर पत्थर की बालकनी भरभराकर गिर गई। नीचे खड़े अशोक माथुर मलबे में दब गए। पत्थर के भारी भरकम टुकड़ों से सिर व शरीर के अन्य भागों में गंभीर चोट से उनकी मौके पर ही मृत्यु हो गई।


 घरवाले पहुंचे तब तक मौत
अचानक हुए इस हादसे में माथुर को न संभलने का मौका मिला न मदद के लिए पुकारने का अवसर। हालांकि बालकनी गिरने से आई आवाज सुनकर घरवाले बाहर आए और मलबा हटाया लेकिन तब तक अशोक की मृत्यु हो चुकी थी। पुलिस भी घटनास्थल पहुंची जांच के बाद शव मथुरादास माथुर अस्पताल की मोर्चरी भिजवाया।


एक साल बाद होने थे सेवानिवृत्त
हेड कांस्टेबल अनिल का कहना है कि अशोक माथुर का मकान तीस साल पुराना है। बालकनी पत्थर की पन्द्रह पट्टियों से बनी हुई थी । कमजोर होने से सारी पट्टियां टूटकर गिर गईं । मृतक अशोक राजस्थान डेयरी में कैमिस्ट थे और अगले वर्ष ही सेवानिवृत्त होने वाले थे।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना