बाबासाहेब अंबेडकर की 130वीं जयंती, PM मोदी समेत कई नेताओं ने किया याद


दिल्ली। भारत के संविधान निर्माता बाबा साहब भीम राव आंबेडकर की आज जयंती है। देश 14 अप्रैल को भारत रत्न बाबासाहेब की 130वीं जयंती मना रहा है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं ने बाबासाहेब को श्रद्धांजलि दी है। पीएम मोदी ने कहा कि समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए किया गया उनका संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'भारत रत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए किया गया उनका संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा।'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने बाबासाहेब को याद करते हुए लिखा, 'भारतीय संविधान के प्रमुख शिल्‍पी, बाबासाहब डॉ.भीमराव अंबेडकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि! डॉ.अंबेडकर ने समतामूलक न्‍यायपूर्ण समाज बनाने के लिए आजीवन संघर्ष किया। आज हम उनके जीवन तथा विचारों से शिक्षा ग्रहण करके उनके आदर्शों को अपने आचरण में ढालने का संकल्‍प लें।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, 'भारत रत्न बाबासाहेब अम्बेडकर जी ने समाज के वंचित वर्ग को शिक्षित व सशक्त किया और हमें न्याय व समता पर आधारित एक ऐसा प्रगतिशील संविधान दिया जिसने देश को एकता के सूत्र में बाँधने का काम किया। बाबासाहेब का विराट जीवन व विचार हमारी प्रेरणा का केंद्र है। उन्हें कोटिशः नमन।'

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'महान स्वाधीनता संग्राम सेनानी, संविधान शिल्पी, सामाजिक न्याय के प्रणेता, अद्वितीय विधिवेत्ता 'भारत रत्न' बाबासाहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर जी को उनकी जयंती पर नमन। आपके द्वारा पोषित सामाजिक न्याय एवं समतामूलक समाज का दीप सदैव प्रज्ज्वलित रहेगा।

आपको बता दें कि बाबासाहेब आंबेडकर पर 1968 में बनी एक दुर्लभ मराठी लघु फिल्म को राष्ट्रीय फिल्म संग्रहालय (एनएफएआई) ने अपने संग्रह में शामिल कर लिया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने बताया कि ‘महापुरुष डॉक्टर आंबेडकर’ नाम से बनी फिल्म का निर्माण प्रचार निदेशक, महाराष्ट्र सरकार ने जुलाई 1968 में किया था।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !