बंगाल और असम में दूसरे चरण का मतदान शुरू, दांव पर ममता व सुवेंदु की प्रतिष्ठा, नंदीग्राम में कड़ा पहरा

 


 

नई दिल्ली।  बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे दौर का मतदान शुरू हो गया है। इस दौरान सूबे के चार जिलों की कुल 30 सीटों के लिए वोट पड़ रहे हैं। इनमें पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर, बांकुड़ा और दक्षिण 24 परगना शामिल हैं। सबकी निगाहें नंदीग्राम सीट पर हैं। यह सीट दूसरे ही नहीं बल्कि पूरे बंगाल चुनाव का हॉट सीट बन गया है। इसके कारण यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व सुवेंदु अधिकारी के आमने-सामने होना है। सुवेंदु पिछले साल दिसंबर में तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। दोनों की प्रतिष्ठा दांव पर है। यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। धार 144 लागी है। हेलीकाप्टर का भी पहरा है। यहां के सारे मतदान केंद्र संवेदनशील घोषित कर दिए गए हैं। वेब कास्टिंग की भी व्यवस्था है।  नंदीग्राम के सभी प्रवेश व निकासी केंद्रों पर कड़ा पहरा है। वे लोग,जो नंदीग्राम के मतदाता नहीं हैं, उनके प्रवेश पर भी रोक है। यहां कुल 2.75 लाख मतदाता हैं। 

अपडेट

- पश्चिम बंगाल: ​पश्चिम मेदिनीपुर जिले के डेबरा में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में मतदान हो रहे हैं। पश्चिम बंगाल में आज विधानसभा की 30 सीटों पर मतदान हो रहे हैं। 

 

- पश्चिम बंगाल: नंदीग्राम में विधानसभा के दूसरे चरण के लिए मतदान चल रहे हैं। मतदान केंद्र नंबर 110 में लोग मतदान करने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते हुए।

 

 

- पश्चिम बंगाल: बांकुरा में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान जारी हैं, लोग मतदान केंद्र के बाहर अपनी बारी आने का इंतजार करते दिखे। पश्चिम बंगाल में आज विधानसभा की 30 सीटों पर मतदान हो रहे हैं।

 

 

- पश्चिम बंगाल: दक्षिण-24 परगना में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान हो रहे हैं। 

  

में दूसरे चरण के तहत चार जिलों के 30 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होना है जबकि असम में 39 निर्वाचन क्षेत्रों में वोटिंग होगी। इस चरण में बंगाल में 75,94,549 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करके 171 उम्मीदवारों का सियासी भविष्य तय करेंगे। इनमें 152 पुरुष उम्‍मीदवार जबकि केवल 19 महिला प्रत्‍याशी शामिल हैं। बंगाल में दूसरे चरण के लिए कुल 10,620 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। वहीं असम में दूसरे चरण के तहत 345 उम्मीदवारों का सियासी भविष्य ईवीएम में कैद होगा। इनमें 26 महिला उम्‍मीदवार शामिल हैं।

 

नंदीग्राम में ममता-सुवेंदु की प्रतिष्ठा दांव पर

नंदीग्राम सिर्फ दूसरे चरण की नहीं, बल्कि इस पूरे विधानसभा चुनाव की सबसे हाट सीट है, जहां एक तरफ मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी हैं तो दूसरी तरफ तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए सुवेंदु अधिकारी। वहीं, माकपा ने यहां युवा महिला नेता मीनाक्षी मुखर्जी को उतारा है।

 

हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम में धारा-144 लागू

दूसरे चरण के तहत हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम में गुरुवार को वोटिंग होगी। इस संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र से ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराने के लिए नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी है। यही नहीं एक हेलीकॉप्टर से इलाके में निगरानी भी की जा रही है।

 

बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक

निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने कहा कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बिगड़े नहीं और लोग बिना किसी डर के मतदान कर सकें। इसलिए बाहर के लोगों को जो नंदीग्राम के मतदाता नहीं हैं उन्हें क्षेत्र में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। अकेले इस निर्वाचन क्षेत्र में केंद्रीय बलों की 22 टुकड़ियों को तैनात किया गया है। इसमें कुल 355 मतदान केंद्र हैं।

 

नंदीग्राम के सारे मतदान केंद्र संवेदनशील 

बंगाल में दूसरे चरण का मतदान कितना अहम है, इसका अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि बुधवार सुबह से ही केंद्रीय बल के जवानों ने रूट मार्च शुरू कर दिया था। नंदीग्राम के 355 मतदान केंद्रों पर केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां मुस्तैद रहेंगी। ड्रोन से भी कड़ी नजर रखी जाएगी। चुनाव आयोग पहले ही नंदीग्राम के सारे मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित कर चुका है। नंदीग्राम के सभी प्रवेश व निकासी केंद्रों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। 

 

267 मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग की व्यवस्था 

नंदीग्राम में मतदान की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी के कार्यालय में विशेष सेल भी खोला जा रहा है। नंदीग्राम के 267 मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग की व्यवस्था की जाएगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद भी इस समय नंदीग्राम में डेरा डाले हुई हैं। गौरतलब है कि नंदीग्राम में कुल 2.75 लाख मतदाता हैं, जिनमें से 60 हजार अल्पसंख्यक समुदाय से हैं।

 

डेबरा में दो पूर्व आइपीएस में जंग

यहां भाजपा ने पूर्व आइपीएस अधिकारी भारती घोष को प्रत्याशी बनाया है तो तृणमूल से हुमायूं कबीर चुनावी मैदान में हैं, जिन्होंने हाल में चंदननगर के पुलिस आयुक्त के पद से इस्तीफा दिया है। माकपा ने प्राणकृष्ण मंडल को खड़ा किया है।

चंडीपुर में अभिनेता सोहम की अग्निपरीक्षा

 

तृणमूल ने बांग्ला फिल्मों के चíचत अभिनेता सोहम चक्रवर्ती पर एक बार फिर भरोसा जताते हुए उन्हें इस बार चंडीपुर से टिकट दिया है। सोहम पिछला विधानसभा चुनाव बारजोरा सीट से हार गए थे। इस बार उनका मुकाबला भाजपा के पुलक कांति गुरिया और माकपा के आशीष कुमार गुछाइत से है।

मोयना में विरोधी दलों को क्लीन बोल्ड करने की जुगत में अशोक डिंडा

 

यहां की चुनावी पिच पर टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज अशोक डिंडा विरोधी दलों का विकेट गिराने की तैयारी में हैं। तृणमूल कांग्रेस ने उनके खिलाफ बल्लेबाजी करने संग्राम कुमार दोलुई और कांग्रेस ने मानिक भौमिक को उतारा है।

बंगाल में दूसरे चरण के चर्चित चेहरे

तृणमूल कांग्रेस : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, मंत्री मंटूराम पाखिरा व सौमेन महापात्र, पूर्व आइपीएस अधिकारी हुमायूं कबीर, अभिनेता सोहम चक्रवर्ती व अभिनेत्री सायंतिका बनर्जी।

 

भाजपा : सुवेंदु अधिकारी, पूर्व आइपीएस अधिकारी भारती घोष, अभिनेता हिरणमय चटर्जी व पूर्व क्रिकेटर अशोक डिंडा।

माकपा : मीनाक्षी मुखर्जी व चित्तरंजन दास ठाकुर।

किस जिले की कितनी सीटों पर मतदान

1- पूर्व मेदिनीपुर की नौ सीट

2- पश्चिम मेदिनीपुर की नौ सीट

 

3- बांकुड़ा की आठ सीट

4- दक्षिण 24 परगना की चार सीट

बंगाल में 800 कंपनियां तैनात

बंगाल में दूसरे चरण में जिन 30 सीटों पर चुनाव होना है, वहां केंद्रीय बलों की करीब 800 कंपनियां तैनात रहेंगी। दूसरे चरण में राज्य के दो मंत्रियों मंटूराम पाखिरा व सोमेन महापात्र की सियासी किस्मत का भी फैसला होगा। तृणमूल से राज्य के पूर्व मंत्री मानस भुइयां भी मैदान में हैं। दो पूर्व आइपीएस अधिकारी भाजपा की भारती घोष व तृणमूल के हुमायूं कबीर भी एक-दूसरे को ललकार रहे हैं। टालीवुड के तीन कलाकार तृणमूल से सोहम चक्रवती व सायंतिका बनर्जी और भाजपा से हिरणमय चटर्जी भी ताल ठोक रहे हैं।

 

असम में केंद्रीय बलों की 310 कंपनियां तैनात 

असम की 39 विधानसभा सीटों के लिए 26 महिलाओं सहित 345 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। गौरतलब है कि असम की कुल 126 विधानसभा सीटों में से 47 सीटों पर पहले चरण में 27 मार्च को मतदान हो चुका है। राज्य में अंतिम चरण का चुनाव छह अप्रैल को होगा। एक अप्रैल को होने वाले दूसरे चरण के मतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) के 310 दस्ते और असम राज्य पुलिस की 90 कंपनियां तैनात की गई हैं।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक