Wednesday, April 14, 2021

कोविड टेस्ट क्षमता बढ़ाने के लिए लगाईं 44 नई आरटीपीसीआर और 28 नई आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीन -चिकित्सा शिक्षा सचिव

 


 जयपुर । कोरोना महामारी के बढ़ रहे खतरे के मद्देनजर राज्य में वर्तमान की 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन की क्षमता को बढ़ाकर 1 लाख टेस्ट प्रतिदिन किया जा रहा है। इसी संबंध में राज्य के समस्त चिकित्सा महाविद्यालयों और जिला चिकित्सालयों में स्थित माइक्रोबायोलॉजी लैब में 44 नई आरटीपीसीआर मशीन और 28 नई ऑटोमैटिक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। 

चिकित्सा शिक्षा सचिव  वैभव गालरिया ने बताया कि चिकित्सा महाविद्यालयों और जिला चिकित्सालयों में वर्तमान में 35 माइक्रोबायोलजी लैब में कोविड की निशुल्क जांच की जा रही है। जांच क्षमता बढ़ाने के लिए इन प्रयोगशालाओं में रीजेंट रेंटल आधार पर 44 नई आरटीपीसीआर मशीन लगाई गई हैं। इस प्रक्रिया में विक्रेता द्वारा प्रति 40 हजार किट्स पर एक मशीन निशुल्क उपलब्ध कराई जानी थी।  गालरिया ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने के लिए 17 लाख 60 हजार किट्स का क्रय किया गया है। विक्रेता द्वारा इन 17.60 लाख किटों पर लगभग 14 लाख रुपये प्रति मशीन लागत की 44 मशीनें निशुल्क उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने कहा कि इतनी किटें 20 से 25 दिन की आवश्यकता के लिए पर्याप्त हैं।

 

चिकित्सा शिक्षा सचिव ने बताया कि आरटीपीसीआर जांच में वृद्धि के लिये ऑटोमैटिक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीन की भी आवश्यकता होती है। रीजेंट रेंटल आधार पर प्रति 60 हजार किट पर एक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीन विक्रेता द्वारा निशुल्क प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि जांच क्षमता को 1 लाख प्रतिदिन करने के लिए इस मशीन की 16 लाख 80 हजार किट्स खरीदी गई हैं। इस प्रक्रिया में करीब 30 लाख रुपये प्रति मशीन लागत की 28 आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीनें निशुल्क प्राप्त हुई हैं।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...