कोरोना संक्रमण: जनवरी के बाद फरवरी में मिली राहत, मार्च में फिर आई आफत, कोरोना बम फूटने के साथ अप्रैल का आगाज

 


भीलवाड़ा (विजय गढ़वाल)। वर्ष 2020 में होली के बाद आए कोरोना ने एक साल तक खूब रंग दिखाए। साल के अंत में लगने लगा था कि अब कोरोना लगभग खत्म हो गया लेकिन कम्बख्त दम तोड़ते-तोड़ते फिर से पनप गया। यह सिर्फ पनपा ही नहीं बल्कि अब दुगुनी से भी ज्यादा रफ्तार से अपना रौद्र रूप दिखाने लगा है।
भीलवाड़ा की बात करें तो नए साल में प्रवेश करते ही पहले दिन कोरोना ब्लास्ट हुआ और 44 नए कोरोना संक्रमित सामने आए। इसके बाद आंकड़ा कम होने लगा। 7 जनवरी को 34 रोगी मिलने के बाद प्रतिदिन का आंकड़ा कम होने लगा और 26 जनवरी को तो केवल एक रोगी कोरोना संक्रमित मिला। 31 जनवरी को 3 रोगी मिले। इस तरह जनवरी 2021 में 31 दिन में 581 नए कोरोना संक्रमित मिले। औसत के हिसाब से देखा जाए तो जनवरी में प्रतिदिन करीब 19 नए कोरोना संक्रमित मिले।
फरवरी का महीना सुकून देने वाला रहा। फरवरी के आंकड़े देखें तो 28 दिन में 189 नए कोरोना संक्रमित मिले। औसत के हिसाब से 7 नए संक्रमित रोज। फरवरी में एक दिन में सर्वाधिक 15 नए संक्रमित 4 फरवरी को सामने आए। न्यूनतम आंकड़ा 9, 16, 17, 25 व 28 फरवरी को दो-दो रोगी का रहा। 
मार्च की शुरुआत 7 संक्रमितों से हुई और समाप्ति 31 मार्च को कोरोना ब्लास्ट में 40 नए संक्रमित मिलने के साथ। इससे पहले 29 मार्च को 39 नए कोरोना संक्रमित मिले थे। मार्च के 31 दिनों में 622 नए कोरोना संक्रमित मिले। यानि औसतन प्रतिदिन 20 संक्रमित मिले।
दिसंबर के बाद बढ़ी लापरवाही
नवंबर, दिसंबर में कोरोना के केस कम होने के बाद लोग लापरवाह हो गए। मास्क व दो गज की दूरी भूल गए। साबुन व सैनेटाइजर से हाथ धोना तो जैसे गुजरे जमाने की बात हो गई है। वर्ष 2020 में लॉकडाउन के दौरान लोग घरों में कोरोना गाइडलाइन की पालना कर रहे थे लेकिन अब लापरवाही बरतने लगे हैं। कोरोना संक्रमण फिर फैलने की सबसे बड़ी वजह इसी लापरवाही को माना जा रहा है। लोग बिना मास्क लगाए ही बाजारों में नजर आते हैं।
पहली अप्रैल को हाफ सेंचुरी, 51 संक्रमित मिले
भीलवाड़ा में एक अप्रैल को 51 कोरोना संक्रमित मिले हैं जो वर्ष 2021 में अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। इससे पहले एक जनवरी 2021 को एक साथ 44 नए कोरोना संक्रमित मिले थे जिसके बाद प्रशासन व चिकित्सा विभाग में हड़कंप मच गया था। गनीमत रही कि इसके बाद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा कम ज्यादा होता रहा लेकिन 40 तक नहीं पहुंचा। 26 मार्च से हालात बिगडऩे शुरू हो गए। 26 मार्च को 32 कोरोना संक्रमित मिलने के बाद आंकड़ा 30+ से नीचे नहीं आया। 29 मार्च को 39 संक्रमित मिलने के बाद 31 मार्च को 40 नए कोरोना संक्रमित पाए गए वहीं एक अप्रैल को इनकी संख्या 51 पहुंच गई है।
सुरक्षित रहें, अपने लिए और अपनों के लिए भी...
भीलवाड़ा हलचल आपसे अपील करता है कि भीलवाड़ा में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना चाहिए। इसके तहत घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनना न भूलें। चाहें थोड़ी दूर ही क्यों न जाना हो। मास्क लगाने का सही तरीका यह है कि हमारे मुंह व नाक दोनों ढंके रहें। भीड़ में जाने से बचें। दुकान पर जा रहे हैं तो दो गज की दूरी रखते हुए अपनी बारी का इंतजार करें। हाथों को बार-बार साबुन या सैनेटाइजर से साफ करते रहें। घर में साफ-सफाई बनाए रखें।
 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !