Monday, April 12, 2021

जवानों की जान लेने वालों को हर हाल में पकड़ा जाये: डीजीपी

 


 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। प्रदेश पुलिस के मुखिया डीजीपी एमएल लाठर ने कहा कि भीलवाड़ा पुलिस के दो जवानों की जान लेने वालों को किसी हाल में बख्शा नहीं जाये। जल्द से जल्द इन बदमाशों को ट्रेस कर गिरफ्तार करें। 
वे, सोमवार दोपहर यहां पुलिस अधीक्षक कार्यालय सभागार में जिले के पुलिस अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। डीजीपी ने कहा कि सबसे पहला मुद्दा ये ही है कि पुलिस के दो जवानों की जान लेने वाले बदमाशों की तलाश की जाये। इन्हें ट्रेस कर जल्द से जल्द रिजल्ट दें। 
उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी पुलिस अधिकारी व जवान टीम वर्क से काम करें। लाठर ने दो जवानों के गोलीबारी में शहीद होने को गंभीरता से लेते हुये कहा कि आगे से इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। ये दुर्घटना थी। इससे सबक लिया जाये। भविष्य में कभी भी नाकाबंदी व आकस्मिक सूचना पर पुलिस रणनीति व पूरी तैयारी और जाब्ते के साथ जाये। इस दौरान हेलमेट, जैकेट, ढाल व हथियार साथ रखें। इसमें किसी तरह की कौताही न बरतें। साथ ही नाकाबंदी की सूचना रूट पर आगे से आगे थाने वालों को भी तुरंत दें। 
मीटिंग के दौरान डीजीपी ने इस घटना में लिप्त बदमाशों की धरपकड़ को लेकर अधिकारियों के सुझाव भी जाने। इस दौरान पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा, एएसपी गजेंद्रसिंह जोधा, एएसपी सहाड़ा चंचल मिश्रा, एएसपी शाहपुरा विमल सिंह, डीएसपी भंवर रणधीर सिंह, डीएसपी रामचंद्र, डीएसपी आसींद रोहित मीणा सहित शहर व जिले के थाना प्रभारी मौजूद रहे। 
कोटड़ी में देखा घटनास्थल
शनिवार रात कोटड़ी में तस्करों की ओर से की गई फायरिंग में जवानऔंकार रायका शहीद हो गये थे। इसे लेकर डीजीपी एमएल लाठर सोमवार को कोटड़ी पहुंचे और घटनास्थलका निरीक्षण कर जानकारी ली। 
शहीद जवान के परिजनों को बंधाया ढाढस
डीजीपी, कोटड़ी से शहीद जवान रायका के चौहली स्थित आवास पर पहुंचे। जहां डीजीपी ने शहीद के पिता नारायण लाल सहित अन्य परिजनों को सांवत्ना दी और कहा कि औंकार बहादुर जवान था। उसने पुलिस के लिए बलिदान दिया है।उन्होंने परिजनों से कहा कि पूरा महकमा परिवार के साथ है। 
शहीद की  मां और पत्नी से भी मिले
लाठर, शहीद की मां व पत्नी से मिले। इस दौरान वे, बिलख उठीं। डीजीपी और एसपी ने सांवत्ना दीऔर कहा कि औंकार पर पुलिस महकमे को गर्व है। औंकार ने वो कर दिखाया है, जिसे आने वाली पीढिय़ां याद रखेंगी। गमगीन माहौल में मौजूद अधिकारी भी भावुक हो उठे। इस दौरान शहीद की बेटी, जो परिजनों के पास थी, वह पुलिस अधिकारियों को निहारती रही।
परिजन बोले, बदमाशों को मिले किये की सजा
डीजीपी लाठर से मुलाकात के दौरान परिजनों ने कहा कि उनका बेटा तो चला गया। अब उन बदमाशों को नहीं बख्शा जाये, जिन्होंने इस दर्दनाक घटना को अंजाम दिया है। इन बदमाशों को उनके किये की सजा मिलनी चाहिये। 
ऐसे अपराधों को ज्यादा लंबा नहीं रखते- डीजीपी
इससे पहले भीलवाड़ा पहुंचने पर पुलिस महानिदेशक लाठर ने पत्रकारों से बातचीत में दो जवानों के शहीद होने की घटना को लेकर कहा कि इस तरह के अपराधों को हम ज्यादा दिन लंबित नहीं रखते और न ही अपराधियों को ज्यादा दिन चलने देते हैं।

ग्रांम पंचायतो में सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया

   निम्बाहेड़ा हलचल। निकटवर्ती ग्रांम पंचायत टाई एवं बरड़ा के अरनिया माली, बोरखेड़ी, ढावलिया,  पेमडीया गाव में बुधवार को कारोना महामारी सेे बचा...