बीमारी से तंग आकर युवक ने मौत को गले लगाया, नीम के पेड़ से लटक कर दी जान


 भीलवाड़ा हलचल।  करीब 15 साल से बीमारी से पीडि़त एक युवक ने मौत को गले लगा लिया। युवक एक दिन पहले ही अजमेर से दवा लेकर लौटा और घर पहुंचने से पहले रास्ते में ही नीम के पेड़ से लटक कर खुदकुशी कर ली। बुधवार सुबह ग्रामीणों ने फंदे से झुलता शव देखा तो सनसनी फैल गई। पुलिस ने मृतक के पास मिली ईलाज की पर्चियों से शव की पहचान करते हुये पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। 
काछोला थाना प्रभारी रतन लाल ने हलचल को बताया कि बागथला गांव का देवकिशन (25) पुत्र उदा गुर्जर करीब 15 साल से बीमार चल रहा था। उसकी दीमागी हालत ठीक नहीं थी। देवकिशन भीलवाड़ा और अजमेर से ईलाज करवा रहा था। तीन दिन पहले वह दवा लाने गांव से अजमेर गया। जहां से कल शाम को वह काछोला लौट आया। 
देवकिशन ने घर पहुंचने से पहले ही काछोला बागथला मार्ग पर शंकर सुथार के खेत पर गले में रस्सी का फंदा डाला और नीम के पेड़ से लटक गया। इसके चलते उसकी मौत हो गई। बुधवार सुबह ग्रामीणों ने पेड़ से लटकी लाश देखकर गांव वालों व पुलिस को सूचना दी। पुलिस व ग्रामीण मौके पर पहुंच गये।  पुलिस ने शव को फंदे से उतारा। मृतक के पास मिली ईलाज की पर्चियों के आधार पर उसकी पहचान बागथला के देवकिशन गुर्जर के रूप में की। 
परिजन भी पुलिस कीे सूचना पर मौके पर पहुंच गये। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए राजकीय अस्पताल भिजवा दिया, जहां पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। थाना प्रभारी का कहना है कि संभवतया देवकिशन ने बीमारी से परेशान होकर खुदकुशी की है। फिल्हाल मामले की जांच की जा रही है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक