ठग महिला ने अब देवली अस्पताल में दी दस्तक, ग्रामीण महिला के गहने उतरवाकर हुई रफूचक्कर

 


 भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा के जिला अस्पताल सहित टौंक आदि जिलों में कई वारदातों को अंजाम दे चुकी ठग महिला ने एक बार फिर बुधवार को हनुमान नगर थाने के देवली अस्पताल में दस्तक देते हुये एक ग्रामीण महिला को जांच के बहाने अपना शिकार बनाते हुये गहने उतरवा लिये। वारदात को अंजाम देकर यह महिला रफूचक्कर हो गई। महिला सीसी टीवी फुटेज में कैद हो गई, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, जामोली गांव की 55 वर्षीया भागूती पत्नी रामकिशन प्रजापत देवली अस्पताल से उपचार करवा रही थी। बुधवार को भागुती अपनी बेटी के साथ सोनोग्राफी करवाने देवली अस्पताल गई थी। मां-बेटी डॉक्टर के चैंबर के बाहर खड़ी थी। वहीं उन्हें एक महिला खड़ी मिली, जो अनजान थी। इस महिला ने नर्स के  जैसा बर्ताव करते हुये मां-बेटी से कहाकि डॉक्टर्स साहब चैंबर में नहीं है।  बाहर भीड़ न करें। इतना कहते हुये अनजान महिला ने भागूती को जांच कराने का भरोसा दिलाया और बेटी को एक कागज पर सील लगाने के बहाने काउंटर पर भिजवा दिया। भागूती की बेटी सील लगवाने चली गई। इसके बाद अनजान महिला, भागूती को ऑपरेशन थिएटर के बाहर ले गई। जहां उसने जांच के बहाने भागूती के गले में पहने एक तोला वजनी तीन मांदलिये उतरवा लिये। भागूती ने गहने मांगे तो महिला ने कहा कि यह गहने वह उसकी बेटी को दे देगी। उधर, गहने लेकर अनजान महिला वहां से गायब हो गई। करीब 5 मिनट बाद भागूती की बेटी जब मां के पास लौट आई। भागूती ने बेटी से पूछा कि उसे नर्स (अनजान महिला) ने गहने दिये क्या। इस पर बेटी ने मना कर दिया। इसके बाद मां-बेटी ने अनजान महिला की तलाश की, लेकिन वह नहीं मिली। 
इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सब इंस्पेक्टर लीलाराम, कांस्टेबल राजेंद्र, संजीव  मौके पर पहुंचे और भागूती से वारदात की जानकारी लेते हुये महिला की तलाश की, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चल पाया। महिला नीले रंग का सूट और पीले रंग का दुपट्टा पहने हुये थी। आपको बता दें कि यह महिला टोंक के साथ ही भीलवाड़ा के जिला अस्पताल में कई वारदातों को अंजाम दे चुकी है।  लेकिन पुलिस आज तक इस महिला का कोई सुराग तक नहीं लगा पाई। ऐसे में आये दिन ग्रामीण महिलायें इस ठग महिला की शिकार बन रही है। 
और वो बच गई...
इस ठग महिला ने भागूती से पहले एक अन्य महिला को शिकार बनाने का भरपूर प्रयास किया, लेकिन वह इस ठग महिला के झांसे में नहीं आई। बताया गया है कि एक अन्य महिला भी अपने मासूम बच्चे के साथ अस्पताल आई थी। जहां इस ठग महिला ने उसे अपने जाल में फांसने के प्रयास शुरू किये। अचानक महिला का बच्चा रोने लगा। ऐसे में वह महिला बच्चे को लेकर अस्पताल से बाहर चली गई। इसके चलते ही वह ठगी का शिकार होने से बच गई। 
सीसी टीवी में हुई कैद
पुलिस का कहना है कि ठग महिला सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस का कहना है कि चेहरा साफ नजर नहीं आ रहा है, लेकिन वह सीसी टीवी कैमरे में कैद मिली है। पुलिस इसी के आधार पर उसका पता लगाने का प्रयास कर रही है।  

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक