उल्टी-दस्त और पेट दर्द कोरोना के नए लक्षण:ऐसा हर बीसवां बच्चा पॉजिटिव, डॉक्टर बोले- सतर्क होने का समय आ गया

 


जयपुर दिल्ली, मिजोरम, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और केरल के बाद राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस बार चिंता की बात यह है कि कुछ मरीजों की तबीयत ज्यादा खराब हो रही है। छोटे बच्चों के अलावा इसमें बुजुर्ग व्यक्ति भी शामिल हैं, जो किसी न किसी दूसरी पुरानी बीमारियों से ग्रसित हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक राजधानी जयपुर में पिछले कुछ दिनों से छोटे-छोटे बच्चों में उल्टी-दस्त, पेट दर्द और तेज बुखार की शिकायतें मिल रही हैं। इनका कोरोना टेस्ट करवाया गया तो वे पॉजिटिव निकल रहे हैं।

राजस्थान के सबसे बड़े कोविड हॉस्पिटल आरयूएचएस में नियुक्त शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. आलोक गोयल की मानें तो इन दिनों यहां ओपीडी में बड़ी संख्या में बच्चे आ रहे हैं। इनमें उल्टी-दस्त और तेज बुखार की शिकायत ज्यादा है। वहीं, कई बच्चों में तेज पेट दर्द के भी लक्षण मिले हैं। इनमें कुछ बच्चों की जांच करवाई गई तो करीब 5 फीसदी बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

राजस्थान हॉस्पिटल के प्रेसिडेंट और सीनियर पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. वीरेंद्र सिंह की मानें तो करीब 7 दिन पहले उनके हॉस्पिटल में दो मरीज भर्ती हुए। इसमें एक 14 साल का बच्चा भी शामिल था। इस बच्चे को डायरिया के अलावा पेट दर्द की शिकायत थी। जांच में ये कोविड पॉजिटिव निकला था, जिसे ठीक होने के बाद एक दिन पहले ही छुट्‌टी दी गई।

इसी तरह के 70 साल के एक बुजुर्ग व्यक्ति भी सांस की तकलीफ के बाद भर्ती हुआ, जो कोविड पॉजिटिव था। डॉ. वीरेंद्र सिंह की माने तो कोविड को लेकर अब वापस सतर्क होने का समय आ गया है, क्योंकि अभी जो केस आ रहे हैं, उसमें उन लोगों को ज्यादा खतरा है, जो कोमॉर्बिडिटी कंडीशन में है।

बड़े मरीजों में भी डायरिया की शिकायत
एसएमएस हॉस्पिटल के सीनियर प्रोफेसर और जनरल मेडिसिन यूनिट के हेड डॉ. रमन शर्मा ने बताया कि इन दिनों उनके पास कुछ ऐसे मरीज आए हैं, जिनके डायरिया के लक्षण हैं। ऐसे मरीजों की जब जांच करवाई गई तो वे कोविड पॉजिटिव निकले। उन्होंने कहा कि अभी जो कोविड के अधिकांश मरीज आ रहे हैं, उनमें लक्षण सामान्य हैं। जैसे गले में खराश, बुखार, खांसी इत्यादि। उन्होंने बताया कि ओमिक्रॉन के सबटाइप वैरिएंट में इस तरह के सामान्य लक्षण तीसरी लहर में भी देखने को मिले थे, लेकिन अब कुछ मरीजों में डायरिया की शिकायत देखने को मिल रही है।

ओपीडी हो गई दोगुनी
एसएमएस मेडिकल कॉलेज के पीडियाट्रिक मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. कैलाश मीणा ने बताया कि इन दिनों बच्चों में पेट दर्द, उल्टी और तेज बुखार के तेजी से मामले सामने आ रहे हैं। जेके लोन हॉस्पिटल में ओपीडी की संख्या भी लगभग दोगुनी हो गई है। पहले रोज करीब ढाई हजार बच्चे ओपीडी में आ रहे थे, अब यह संख्या 4 हजार से ज्यादा पहुंच गई है। इनमें कई बच्चे कोविड पॉजिटिव निकल रहे हैं।

एक सप्ताह में मिले 296 मरीज
राजस्थान में कोरोना के पिछले एक सप्ताह में 296 नए मरीज मिले हैं। करीब एक सप्ताह पहले पूरे राज्य में 18 मरीज आए थे, जो अब बढ़कर 89 तक पहुंच गए। शुक्रवार को राज्य में 89 पॉजिटिव मिले थे, जो पिछले डेढ़ महीने में सर्वाधिक थे। लगातार केस बढ़ने से राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 329 हो गई, जिसमें 247 मरीज तो केवल जयपुर में हैं। वहीं, धौलपुर में 25 और अलवर में 15 एक्टिव केस हैं।

टेस्ट पॉजिटिविटी रेट भी 1 फीसदी के ऊपर
राजस्थान में शुक्रवार को टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 1.25 फीसदी रही। पूरे राज्य में शुक्रवार को 7105 लोगों के सैंपल की जांच की गई थी, जिनमें से 89 पॉजिटिव निकले। राजस्थान के अलावा शुक्रवार को गोवा, कर्नाटक, केरल, हरियाणा में भी टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 1 फीसदी से ज्यादा रही। सबसे ज्यादा हरियाणा में 3.95 फीसदी रही।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर