आकाश+बायजूस ने भीलवाड़ा में अपना पहला क्लासरूम सेंटर लांच किया

 


भीलवाड़ा, : हजारों छात्रों को डॉक्टर और आईआईटीयन बनने के अपने सपनों को साकार करने में मदद कर देश के विभिन्न हिस्सों में अपने नेटवर्क का विस्तार करने के उद्देश्य को आगे बढ़ाने के लिए, राष्ट्रीय लीडर आकाश+बायजूस ने टैस्ट तैयारी क्षेत्र में आज राजस्थान के भीलवाड़ा में अपना पहला क्लासरूम सेंटर लांच किया। इस नये सेंटर में 14 क्लासरूम हैं जिसमें 1100 छात्र बैठ सकते हैं।आकाश+बायजूस, एसके प्लाजा, , पुर रोडमें स्थित है। क्लासरूम सेंटर फाउंडेशन स्तर के छात्रों को अपने बेसिक्स मज़बूत करने के अतिरिक्त पाठ्यक्रमों के साथ-साथ मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा पाठ्यक्रमों की तैयारी करने और उन्हें विभिन्न प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद करता है, जैसे ऑलम्पियाड आदि।क्लासरूम केंद्र का उद्घाटन   परमेश्वर झा, क्षेत्रीय निदेशक, आकाशबायजूस ने कंपनी के अन्य अधिकारियों केसाथ किया।नए केंद्र के उद्घाटन के बारे में बोलते हुए, आकाश+बायजूस के प्रबंध निदेशक श्री आकाश चौधरी ने कहाः "भीलवाड़ा में नया क्लासरूम सेंटर ओलंपियाड को पास करने, डॉक्टर और आईआईटीयन बनने की तैयारी करने के इच्छुक स्थानीय छात्रों के लिए एक बड़ा वरदान होगा। आज आकाश बायजूस अपने केंद्रों के अखिल भारतीय नेटवर्क के माध्यम से पूरे देश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए व्यापक रूप से जाना जाता है। हमारी शैक्षिक सामग्री की गुणवत्ता और हमारी शिक्षण पद्धति की प्रभावशीलता, जैसा कि छात्रों के चयन की संख्या से पता चलता है, ने आकाश को स्नातक चिकित्सा और इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों के लिए इच्छुक छात्रों को योग्य प्राप्तकर्ता व शीर्ष विकल्पों में से एक बना दिया है। " चौधरी ने आगे कहा, "हम भीलवाड़ा में अपना पहला क्लासरूम सेंटर खोलकर और राजस्थान में अपने पदचिह्न का विस्तार करके बहुत खुश हैं। हमारे राष्ट्रीय नेटवर्क में इस शाखा का जुड़ना मानकीकृत गुणवत्तापूर्ण शिक्षण, आधुनिक बुनियादी ढांचे और टैक्नोलॉजी सक्षम प्रणालियों का उपयोग करके पूरे भारत में छात्रों को सीखने के लिए अनुकूल वातावरण प्रदान करने की हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।"जो छात्र आकाश+बायजूस में प्रवेश लेना चाहते हैं, वे या तो तत्काल प्रवेश व सह छात्रवृत्ति परीक्षा (आईएसीएसटी) ले सकते हैं या (आकाश नेशनल टैलेंट हंट परीक्षा के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

आकाश+बायजूस में पेश किए जाने वाले कार्यक्रम छात्रों को विभिन्न परीक्षाओं के लिए व्यापक रूप से तैयार करते हैं। इसके अलावा, अपनाई गई शिक्षण पद्धति वैचारिक और अनुप्रयोग आधारित शिक्षा पर केंद्रित है जो इसे एक ब्रांड के रूप में अलग क

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना