मरीज की मृत्यु के बाद परिजनों का हंगामा, डॉक्टर के साथ अभद्रता और मारपीट का प्रयास


 

बीकानेर। संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम में शुक्रवार को हंगामा हो गया। ट्रामा सेंटर में भर्ती मरीज की मौत से गुस्साए परिजनों ने महिला रेजिडेंट डॉक्टर के साथ अभद्रता की। साथ ही उसके साथ मारपीट करने का प्रयास भी किया। घटना के बाद डॉक्टर लामबंद हो गए और आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार गंभीर रूप से घायल युवक का ट्रामा सेंटर के आईसीयू में इलाज चल रहा था। शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। आईसीयू में महिला रेजिडेंट उसे सीपीआर देकर बचाने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान मरीज के परिजन आईसीयू में घुस आए। अंदर आते ही उन्होंने रेजिडेंट के साथ अभद्रता और मारपीट करने का प्रयास किया।

महिला रेजिडेंट डॉक्टर नेहा चाहर ने बताया कि मरीज को तीन दिन पहले गंभीर हालत में पीबीएम के ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया था। उसकी मौत के बाद परिजनों ने मेरे साथ अभद्रता शुरू कर दी और मुझे मारने के लिए दौड़े। मैंने नर्सिंग स्टाफ के लिए बनाए गए रेस्ट रूम में छिपकर जान बचाई। 

मामले की जानकारी रेजिडेंट डॉक्टरों को लगी तो उन्होंने मौके पर पहुंच कर डॉक्टर को बचाया। रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. महिपाल  ने बताया कि आए दिन डॉक्टरों के साथ मरीज के परिजन मारपीट करते हैं। ऐसे हालात से निपटने के लिए अस्पताल में पर्याप्त संख्या में गार्ड भी नही लगाए जाते हैं। उन्होंने डॉक्टरों को सुरक्षा देने की मांग की है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना