विवाहिता ने पीहर में फंदा लगाकर दे दी जान, मौत की जिम्मेदार ननद

 


भरतपुर

21 साल की विवाहिता ने अपने पीहर में फंदा लगाकर जान दे दी। सुसाइड करने वाली महिला होली के बाद से ही अपने पीहर रह रही थी। उसने सुसाइड नोट में पति को आई लव यू कहा। साथ ही अपनी मौत के लिए पति की अविवाहित बहन को जिम्मेदार बताया है। लिखा कि उसने ही पति पत्नी में झगड़ा कराया। 30 अप्रैल को आरती की शादी की पहली सालगिरह थी।
सेवर थाना इलाके के गुंडवा गांव में रहने वाली आरती की शादी 30 अप्रैल 2021 को मथुरा के छाता तहसील में सूरज कुंड रहने वाले दीपक से हुई थी। सुसाइड नोट के मुताबिक ननद और जेठ ने ससुराल में रहने नहीं दिया। सारा सामान लेकर भगा दिया। नदद ने पति पत्नी का झगड़ा करा दिया। पति के लिए आरती ने लिखा, 'वे बहुत अच्छे हैं, बहन के बहकावे में आकर उन्होंने मुझसे झगड़ा किया। मैं उनसे प्यार करती हूं और मरने के बाद भी करती रहूंगी।' महिला ने सुसाइड नोट में ननद सोना और जेठ ओमप्रकाश पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं।

21 साल की आरती सिंह की शादी पिछले साल 30 अप्रैल को मथुरा में हुई थी। ससुराल में वह प्रताड़ित हो रही थी इसलिए पिता होली से पहले उसे भरतपुर ले आए थे, तब से वह टेंशन में थी।

21 साल की आरती सिंह की शादी पिछले साल 30 अप्रैल को मथुरा में हुई थी। ससुराल में वह प्रताड़ित हो रही थी इसलिए पिता होली से पहले उसे भरतपुर ले आए थे, तब से वह टेंशन में थी।

पिता ने कहा- टेंशन में थी आरती
आरती के पिता ने बताया कि बेटी को होली से कुछ दिन पहले ही ससुराल से यहां गुंडवा गांव ले आया था। वो टेंशन में थी। शादी के कुछ दिन बाद ही आरती बीमार हो गई थी, लेकिन उसके ससुराल वालों ने उसका इलाज तक नहीं कराया। बल्कि वे उसकी बीमारी से तंग आकर बेटी को ही परेशान करने लगे।

होली के कुछ दिन पहले पता चला कि आरती को वहां ननद व जेठ प्रताड़ित कर रहे हैं, मारपीट भी की। मैं उसके ससुराल सूरज कुंड गया। उन लोगों से बात की, लेकिन वे समझने को तैयार नहीं हुए। ऐसे में बेटी को लेकर भरतपुर आ गया। उसका इलाज भी कराया। वह तनाव में रहती थी।

पंखे से लटकी मिली
सोमवार दोपहर करीब 12.20 बजे आरती के परिजन उसके कमरे में पहुंचे तो वह पंखे से लटकी मिली। तुरंत सेवर थाना पुलिस को सूचना दी। एसएचओ अरुण चौधरी मौके पर पहुंचे और एफएसएल की टीम बुलाकर जांच कराई। आरती की डेडबॉडी आरबीएम अस्पताल में रखवाई। मंगलवार को मॉर्च्युरी में पोस्टमार्टम किया जाएगा।

आरती ने सुसाइड नोट में मौत का जिम्मेदार ननद और जेठ को बताया। लिखा कि ननद ने पति से झगड़ा करा दिया। आरती ने सोमवार दोपहर पीहर में सुसाइड कर लिया था।

आरती ने सुसाइड नोट में मौत का जिम्मेदार ननद और जेठ को बताया। लिखा कि ननद ने पति से झगड़ा करा दिया। आरती ने सोमवार दोपहर पीहर में सुसाइड कर लिया था।

आरती ने सुसाइड नोट में यह लिखा
आरती ने सुसाइड नोट में लिखा- 'मेरे मरने का जिम्मेदार घर में से कोई नहीं है। मुझे मरने पर मजबूर मेरी ननद ने किया है। उसने मेरी और मेरे पति की लड़ाई करा दी और मुझे ससुराल से भगा दिया। मुझे और मेरे घरवालों को गाली दी। मुझसे मेरी सारी चीजें छीन ली और मुझे फोन पर धमकी दी कि अब तुझे ससुराल में नहीं आने दूंगी।

इसमें मेरे पति का कोई दोष नहीं है। उसने तो बहन के कहने पर मुझसे झगड़ा किया। मेरी मौत के जिम्मेदार मेरी ननद और जेठ हैं। सोना और ओमप्रकाश। और मुझसे कोई गलती हुई हो तो मुझे माफ कर देना। मैं मेरे पति से बहुत प्यार करती हूं और मरने के बाद भी करती रहूंगी..I Love You दीपकजी।'

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर