4 टीचर को 7 साल की सजा, सहकर्मी शिक्षका से करते थे अश्लील बातें, तंग आकर दी थी जान


 अलवर जिले में एक शिक्षका की आत्महत्या के मामले में अदालत ने अपना फैसला सुनाया। अदालत ने मृतका की आत्महत्या के लिए उसके साथी चार शिक्षकों को उसकी सुसाइड का दोषी पाया। सभी को 7-7 साल की सजा सुनाई गई है। सजा पाने वालों में एक महिला शिक्षका भी शामिल है। अदालत ने यह फैसला महिला के सुसाइड नोट के आधार पर दिया है। आरोप था कि आरोपी महिला से अश्लील बातें करते थे। साथ ही उसे लगातार मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। 
जानकारी के अनुसार मामला शहर के बीरनवास गांव का है। 22 दिसंबर 2014 को बीरनवास गांव के श्यामलाल (69) ने मांढण थाने में एक केस दर्ज कराया था। अपनी रिपोर्ट में उन्होंने पुलिस के बताया कि उनका बेटा सेना में है। उनके बेटे की बहू चेतन शर्मा (31) एक निजी स्कूल में पढ़ाती थी। इस दौरान स्कूल के अन्य टीचर राजबाला यादव, सुनील बसवाल, यशपाल और ज्योति उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे।उसके साथ अश्लील बातें किया करते थे, जिससे वह परेशान थी। उसने इस बातों के बारे में घर में जानकारी दी थी। आरोपियों ने उसे इतना परेशान किया कि उसने आत्महत्या कर ली। बता दें कि पुलिस मृतका के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद था। सात साल चली सुनवाई के बाद अदालत ने चारों शिक्षकों को महिला की मौत का दोषी पाया। जिसके बाद शुक्रवार को सभी को सात-सात साल की सजा सुनाई। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस