बेटी को दिखाने आई महिला को एनआईसीयू में प्रवेश पड़ा महंगा, सीनियर डॉक्टर ने मारा चांटा, 4 डॉक्टरों की टीम करेंगेी आरोपो की जांच

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। महात्मा गांधी अस्पताल की शिशू इकाई के एक वरिष्ठ चिकित्सक पर बीगोद की एक महिला ने चांटा मारने का आरोप लगा है। यह घटना शिशू इकाई स्थित एनआईसीयू की बताई गई है, जहां यह महिला अपनी बेटी की जांच के लिए पर्ची पर महिला चिकित्सक की सील लगवाने गई थी। इस घटना के बाद वार्ड में हंगामा खड़ा हो गया। महिला ने बाद में डॉक्टर के खिलाफ भीमगंज थाने में रिपोर्ट दी है। वहीं कहा जा रहा है कि घटना वहां लगे सीसी टीवी कैमरे में कैद है। 
पुलिस सूत्रों ने बीएचएन को बताया कि बीगोद क्षेत्र की एक महिला कसीबुननिशा की बेटी तरन्नूम निशा को बुखार था। मंगलवार को वह अपनी बेटी को दिखाने के लिए जिला अस्पताल की शिशू इकाई में डॉक्टर इंद्रा सिंह को दिखाने आई थी। उसने, बेटी को डॉक्टर इंद्रा सिंह को दिखाया। उसे जांच लिखी गई। वहं जांच केंद्र पर गई, लेकिन पर्ची पर सील नहीं लगी होने के कारण जांच नहीं हो पाई। उसे सील लगवाने के लिए पुन: डॉक्टर इंद्रा सिंह के पास भेजा गया। वह वार्ड में पहुंची, जहां उसे जानकारी मिली कि इंद्रा सिंह एनआईसीयू वार्ड में जा चुकी है। महिला गार्ड से पूछकर एनआईसीयू वार्ड के अंदर चली गई। जहां डॉक्टर सिंह ने सील लगाने के साथ ही दवा में संशोधन भी किया। इसके बाद सिंह ने वहां मौजूद वार्ड बॉय से कहा कि वह महिला को दवा के बारे में समझा दे। वार्ड बॉय समझा रहा था तभी डॉक्टर जगदीश सिंह सौलंकी  बाहर निकल कर आये। उन्होंने महिला से वार्ड में खड़े रहने की वजह पूछते हुये उसे चांटा मार दिया। उसे वार्ड से बाहर निकलने के लिए कहा। बताया गया है कि यह घटना सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई। इस घटना को लेकर भीमगंज थाने में इस महिला ने रिपोर्ट दी है। उधर, इस पूरे मामले की जांच चार वरिष्ठ डॉक्टर करेंगे। इसके लिए टीम गठित की गई है। 

इनका कहना है
महिला ने डॉक्टर सौलंकी पर थप्पड़ मारने का आरोप लगाते हुये रिपोर्ट दी है। आरोपों की जांच करने के लिए रिपोर्ट को परिवाद में रखा गया है। जांच के बाद जो भी स्थिति सामने आयेगी, उसके अनुसार कार्रवाई की जायेगी। 
 विक्रम सेवावत, भीमगंज थाना प्रभारी   

मैं, बेटी को बुखार आने पर दिखाने आई थी। मेडम ने सील नहीं लगाई। दुबारा वार्ड में गार्ड से पूछकर गई। वार्ड में डॉक्टर सिंह ने सील लगाई और एक इंजेक्शन लिखा। वार्ड बॉय को समझाने के लिए कहा। डॉक्टर के कहने पर वह समझा रहा था,तभी डॉक्टर सौलंकी आये और 4-5 अन्य लोगों को बाहर निकालते हुये वार्ड के आने के बारे में पूछतते हुये थप्पड़ जड़ दिया। इस संबंध में थाने में रिपोर्ट दी है। उसने कार्रवाई की मांग की है। 
कसीबुननिशा, बीमार बच्ची की मां 

जांच के लिए टीम गठित 
03.  महिला को डॉक्टर की ओर से थप्पड़ मारने का मामला सामने आया है। इस घटना को लेकर 4 डॉक्टरों की टीम का गठन किया गया है। यह इस मामले की जांच करेगी। उसके बाद डॉक्टर पर कार्रवाई की जाएगी।

डॉ. अरूण गौड़, अधीक्षक, महात्मा गांधी हॉस्पिटल 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस