लम्पी रोग व किसानों की मांगों पर काश्तकारों का एसडीओ कार्यालय पर प्रदर्शन

 


शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी 
शाहपुरा तहसील क्षेत्र में पशुओं की लम्पी बीमारी की रोकथाम व किसानों की अन्य समस्याओं को लेकर आज एसडीओ कार्यालय के बाहर काश्तकारों ने प्रदर्शन किया। इससे पूर्व त्रिमूर्ति स्मारक स्थल पर काश्तकारों ने क्रांतिकारी बारहठ बंधुओं की प्रतिमा पर माल्र्यापण करके वहां से एसडीओ कार्यालय तक मार्च पास्ट प्रारभ किया। काश्तकारों ने अपनी समस्याओं के संघर्ष के लिए किसान केसरी संघ का गठन करके कर्मचारी नेता रहे सुर्यप्रकाश ओझा को इसका अध्यक्ष नियुक्त किया है तथा उनकी अगुवाई में प्रदर्शन करके उपखंड अधिकारी सुनिता यादव को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन दिया।
किसान केसरी संघ के अध्यक्ष सुर्यप्रकाश ओझा एवं जीव दया सेवा समिति के अध्यक्ष अत्तू खां कायमखानी की अगुवाई में काश्तकारों ने त्रिमूर्ति चोराहा से उपखंड अधिकारी कार्यालय तक प्रदर्शन किया। एसडीओ कार्यालय के बाहर काश्तकारों को ओझा ने संबोधित करते हुए कहा कि काश्तकारों की समस्याओं का समाधान वो दलगत राजनीति से उपर उठकर कराने का प्रयास करेगें। उन्होंने लंपी, फसलों में खराबे का मुआवजा सहित सरकार की योजनाओं के तहत खेतों में तारबंदी योजना का सरलीकरण कर छोटे काश्तकारों को भी जोड़ने की मांग की।
बाद में उपखंड अधिकारी को दिये गये ज्ञापन में कहा गया है कि वर्तमान में खरीफ की फसलों जिनमें उड़द, मूंग आदि में पीलिया रोग से तथा मक्के की फसल में तना छेदक से खराबे का सर्वे कराकर बीमा कम्पनी एवं सरकार किसानों के लिए शीघ्र मुआवजे का इन्तजाम कराया जाए। 
पशुओं में लम्पी रोग से पीड़ित पशुओं का सर्वे कराकर माकूल उपचार की समूचित प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर तक व्यवस्था की जायें तथा इस बीमारी से मरने वाले पशुधन को जमीदोज करने की ग्राम पंचायत एवं नगरपालिका क्षेत्र में उचित व्यवस्था की जायें ताकि इस रोग के वायरस मृत पशुओं के लावारिस पड़े रहने की दशा में अन्य पशुओं तक फैलने की संभावनाओं को खत्म किया जा सके।
लम्पी वायरस के कारण मृत पशुओं से हुए नुकसान का पीड़ित पशुपालकों को चिकित्सा अधिकारी की अभिशंषा के मार्फत यथा संभव मृत पशुओं से किसान को हुए नुकसान की भरपाई का प्रबंध भी राज्य सरकार द्वारा किया जावे ताकि पशुपालकों को बेरोजगार ना होना पड़े। ग्राम पंचायत स्तर पर पशुधन सहायक डॉक्टर व कम्पाण्डर के मोबाईल नम्बरों की सूची ग्राम के प्रमुख स्थानों तथा सरकारी भवनों में चश्पा कराया जाए। 

ज्ञापन में कहा गया है कि किसान सम्मान निधि के पोर्टल वर्तमान में दो वर्ष से क्षेत्र हेतु बंद आ रहा है इसमें आ रही परेशानियों का सरकारी स्तर पर शीघ्र समाधान हो ताकि वंचित किसान को शीघ्र लाभ मिल सके। शाहपुरा क्षेत्र में डीएपी की कमी को देखते हुये उपलब्धता की जायें। तारबन्दी योजना का बजट बढ़ाया जावें जोत सीमा को भी 1.5 हेक्टयर की बजाय 0.50 हेक्टयर तक, किया जावें ताकि छोटे किसानों को भी इसका लाभ मिल सके।
ओझा ने बताया कि किसान केसरी संघ, शाहपुरा जिला भीलवाड़ा की ओर से आज ज्ञापन देने के बाद अब अगर सप्ताह भर में इस दिशा में सरकार व प्रशासन की ओर से कोई सकारात्मक प्रयास नहीं किये जाते है तो आगे की रणनीति के लिए काश्तकारों की बैठक बुलाकर कार्रवाई की जायेगी। ज्ञापन देते समय गोपाल माली, भोलूराम कुमावत, नारायण जाट, रामबक्ष रेबारी, प्रहलाद कहार, रमेश कुमावत, दुर्गालाल बैरवा, नूर मोहम्मद कायमखानी, ओनाड़ कुमावत, नंद सिंह, सोहन कुमावत, बन्ना खारोल, छोटू कुमावत आदि काश्तकार मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार