43 दिन की मेहनत पर पानी फेरने का किया प्रयास,  अब 17 तक नहीं मिलेगी छूट

 
भीलवाड़ा हलचल। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के अब तक किये गये प्रयास पर 43 दिन बाद मिली छूट के दौरान बेपरवाह लोगों ने पानी फेरने की कोशिश की, जिसके चलते कफ्र्यू में ढील को वापस लेना पड़ा और अब 17 मई तक ढील देने का मूड प्रशासन का नजर नहीं आ रहा है। 
कफ्र्यू में ढील देने से पहले ही जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने भीलवाड़ा के लोगों की सराहना करते हुये उन्हें चेताया भी था कि लंबे समय बाद दी जा रही ढील के दौरान वे संयम बरतते हुये नियमों की पालना करें। लेकिन शहर के बाशिंदे 43 दिन बाद पिंजरे में से निकले और सभी नियमों को अनदेखा कर शहर में दुकानों पर जमा हो गये। कई बार समझाया भी गया, लेकिन लोगों और दुकानदारों पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा। इस पर कफ्र्यू में दी गई छूट वापस ले ली गई। 
आज शाम इस संबंध में जिला कलेक्टर भट्ट से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि भीलवाड़ा के लोग काफी संजिदा है, लेकिन आज जो कुछ हुआ वह ठीक नहीं हुआ है और अब लॉकडाउन अवधि तक छूट देने का कोई मानस नहीं है। उन्होंने कहा कि पुलिस को सख्ती से नियमों की पालना करवाने के निर्देश दिये गये हैं। 


 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना