बैंक घटा रहे 90% तक लिमिट, क्रेडिट कार्ड पर कोरोना का साया

सैलरी कट और छंटनी के दौर में कर्ज के सहारे घर-परिवार की गाड़ी खींचना कठिन होता दिख रहा है। कुछ बैंक क्रेडिट कार्ड और पर्सनल लोन की लिमिट कस्टमर्स के कुछ विशेष वर्गों के मामलों में घटाने लगे हैं। साथ ही, छोटे और मझोले उद्यमों की लोन सीलिंग भी कम की जा रही है।
दो लाख कस्टमर्स की क्रेडिट लिमिट घटी
ऐक्सिस बैंक के एक इंटरनल मेमो में कहा गया है कि करीब दो लाख कस्टमर्स की क्रेडिट लिमिट घटा दी गई है। यह मेमो ईटी ने देखा है। इसके मुताबिक यह लिमिट 15 अप्रैल से घटाई गई। ईटी से बातचीत में ऐक्सिस बैंक के कुछ कस्टमर्स ने इसकी पुष्टि की। इस ग्रुप के लिए क्रेडिट लिमिट 30-90% तक कम की गई है।

90% तक घटी क्रेडिट लिमिट !
मुंबई से ऐक्सिस बैंक के एक कस्टमर ने बताया, 'मेरे ऐक्सिस बैंक विस्तारा कार्ड पर क्रेडिट लिमिट पांच लाख रुपये से घटाकर महज 50000 रुपये पर ला दी गई है, जबकि मैं बकाया समय पर चुकाता रहा हूं। कस्टमर केयर से पूछा तो बताया गया कि यह टेक्निकल गड़बड़ी से हुआ और कुछ दिनों में इसे ठीक कर दिया जाएगा।' एक अन्य कस्टमर ने बताया कि उनकी लिमिट सात लाख से घटाकर डेढ़ लाख रुपये कर दी गई है।


कस्टमर परेशान

जारी किए गए कार्ड्स की संख्या के आधार पर ऐक्सिस बैंक के पास 12.6% बाजार हिस्सेदारी है, वहीं टोटल क्रेडिट कार्ड स्पेंडिंग के लिहाज से इसका हिस्सा 10.7% है। यह जानकारी दिसंबर 2019 में इसने अपने क्वॉर्टर्ली प्रजेंटेशन में दी थी। कोटक महिंद्रा बैंक के कुछ कस्टमर्स को भी इसी तरह के संदेश मिले हैं। कोटक के एक कस्टमर ने बताया, 'मेरी क्रेडिट लिमिट 75000 से घटाकर 44000 रुपये कर दी गई और बताया गया कि रेगुलर अकाउंट रिव्यू के तहत ऐसा किया गया।'
लिमिट कटौती विशेष काम नहीं !
कोटक महिंद्रा बैंक के प्रेजिडेंट (कस्टमर एसेट्स) अंबुज चंदना ने कहा, 'क्रेडिट कार्डधारकों की कर्ज पाने की पात्रता और कार्ड पर खर्च के पैटर्न का विश्लेषण हम नियमित रूप से करते रहते हैं और ऐसा नहीं है कि अभी के हालात में कोई विशेष कदम उठाया गया है। क्रेडिट कार्ड से खर्च और रीपेमेंट के हिसाब से हम कस्टमर्स की क्रेडिट लिमिट तय करते हैं और कुछ मामलों में इसे बढ़ाते या घटाते हैं।'


ऑलटाइम हाई लेवल पर क्रेडिट कार्ड बकाया
आरबीआई के आंकड़ों से पता चलता है कि फरवरी अंत में क्रेडिट कार्ड पर बकाया 1.1 लाख करोड़ रुपये के ऑलटाइम हाई लेवल पर था। यह सालभर पहले से करीब 26% ज्यादा था। देश में जनवरी अंत में 5.6 करोड़ से ज्यादा एक्टिव क्रेडिट कार्ड थे। HDFC बैंक ने पर्सनल लोन की पात्रता की शर्त कड़ी कर दी है और लिमिट भी घटा दी है। इसकी लिमिट अब आवेदक के सालाना वेतन के 70-80% पर हो गई है, जबकि पहले 100% थी।

ओवरड्राफ्ट में भी कमी
बैंक रिटेलरों को लोन और मर्चेंट एंटरप्राइज ओवरड्राफ्ट में भी कमी कर रहे हैं। HDFC बैंक के इंटरनल मेमो में ब्रांच मैनेजरों को निर्देश दिया गया है कि अगले आदेश तक ऐसे लोन केवल ग्रॉसरी स्टोर्स, फार्मेसी और डेयरी को दिए जाएं। ईटी ने यह मेमो देखा है। ऐक्सिस बैंक और HDFC बैंक को भेजे गए सवालों के जवाब नहीं मिले।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना