पान मसाला प्रकरण: एक नंबर में लदान किया था माल, लॉकडाउन और प्रतिबंध के चलते बदल गया दो नंबर में

भीलवाड़ा । लॉक डाउन के बीच सप्लाई के लिए लाया रजनीगंधा पान मसाला पकड़े जाने को लेकर पुर थाने में दर्ज केस की जांच अब स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) अजमेर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) गजेंद्र सिंह करेंगे। यह आदेश महानिदेशक ने जारी किये हैं। इस बीच, पकड़ा गये चालक को न्यायालय के आदेश से जेल भेज दिया गया। 
 सूत्रों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन घोषित है और पान मसाला व तंबाकू उत्पाद की बिक्री पर रोक लगी है। इसके बावजूद चोरी छिपे पान मसाला और तंबाकू उत्पाद की बिक्री और सप्लाई की की मुखबिर से प्राप्त सूचना पर  अजमेर एटीएस के सीआई पुरखाराम के नेतृत्व में एक टीम ने शुक्रवार देर रात भीलवाड़ा बाइपास स्थित फूंटिया चौराहा पर नाकाबंदी कर एक कंटेनर को रोका, जिसमें रजनीगंधा पान मसाला के 350 कर्टन, जिनमें 11 लाख 34 हजार पान मसाला पाउच थे। इस पान मसाला को एटीएस ने जब्त कर कंटेनर चालक हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के धोलेड़ा गांव निवासी अमरसिंह पुत्र रामसिंह यादव को गिरफ्तार किया था। 
इस संबंध में पुर थाने में केस दर्ज किया गया। पकड़े गये चालक को पूछताछ के बाद एटीएस ने न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। इस बीच, महानिदेशक ने एक आदेश जारी कर इस केस की जांच एसओजी एएसपी गजेंद्र सिंह को सौंप दी। आगे की जांच अब सिंह ने शुरू की है।


सोनीपत से पान मसाला लेकर चला कंटेनर एक माह बाद पहुंचा भीलवाड़ा
एटीएस की पूछताछ में पकड़े गये चालक यादव ने कबूल किया है कि वह कंटेनर में  सोनीपत इलाके से रजनीगंधा का लदान किया था और एक माह पूर्व यानि 20 मार्च को वह सोनीपत से रवाना हुआ था। दूसरे या तीसरे दिन वह कंटेनर लेकर नारनोल चला गया। जहां से वह घर चला गया। कंटेनर दो दिन खड़ा रहा। लॉकडाउन के चलते चालक एक माह बाद 20 अप्रैल को वहां से भीलवाड़ा के लिए रवाना हुआ, जो 21 अप्रैल को भीलवाड़ा पहुंच गया।


दस दिन खड़ा रहा भीलवाड़ा आउटर में
सूत्रों के अनुसार, चालक ने भीलवाड़ा में प्रवेश करने के बाद कंटेनर को आउटर में खड़ा कर दिया। मालिक से कोई रिप्लाई नहीं मिलने पर वह कंटेनर को आशीर्वाद होटल पर खड़ा कर गांव लौट गया था। इसके बाद चालक को फोन कर दुबारा भीलवाड़ा बुलवा लिया गया। 
अनिल की हो रही थी चालक से बात
एटीएस सूत्रों के अनुसार, कंटेनर चालक यादव से अनिल नामक व्यक्ति की फोन से बातचीत हो रही थी। चालक, को माल खाली करने के लिए बुलाया गया। चालक ने जगह के बारे में पूछा तो फोन करने वाले ने आदमी मिलने की बात कहकर फूंटिया चौराहा बुलाया, जहां एटीएस टीम ने कंटेनर को रजनीगंधा के साथ जब्त कर चालक को गिरफ्तार कर लिया। 


एक नंबर में निकला था माल, लॉक डाउन के चलते बदल गया दो नंबर में
सूत्रों की माने तो रजनीगंधा के ये 350 कर्टन लॉकडाउन से पहले सोनीपत क्षेत्र से लदान कर भीलवाड़ा के लिए रवाना किये गये थे। तब यह माल एक नंबर में लदान किया गया था। इस माल को 15 दिन में गंतव्य तक पहुंचाने की मियाद होती है, लेकिन चालक इस व अवधि में माल को भीलवाड़ा नहीं पहुंचा पाया।  इस बीच लॉक डाउन घोषित होने और तंबाकू और पान मसाला उत्पाद पर रोक लगने से यह माल एक से दो नंबर में तब्दील हो गया था। 


 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना