पश्चिम रेलवे ने चलाई 116 पार्सल,19 मिल्क स्पेशल ट्रेनें

 


अहमदाबाद। पश्चिम रेलवे ने लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्न भागों तक अत्यावश्यक सामग्री के परिवहन के लिए 116 पार्सल स्पेशल और 19 मिल्क स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं। मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी रवीन्द्र भाकर की ओर से शनिवार को यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार चार पार्सल विशेष ट्रेनें कल देश के विभिन्न हिस्सों के लिए पश्चिम रेलवे से रवाना हुईं, जिनमें ओखा - गुवाहाटी, दादर - भुज, मुंबई सेंट्रल - फिरोजपुर और बांद्रा टर्मिनस - ओखा शामिल हैं। एक दूध की रेक पालनपुर से  हिंद टर्मिनल के लिए रवाना हुई। 


 

मालगाड़ियों के कुल 2690 रेकों का उपयोग पश्चिम रेलवे द्वारा 5.86 मिलियन टन आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए किया गया है। 552 मालगाड़ियों को अन्य रेलवे के साथ जोड़ा  गया है। जिनमें 2802 ट्रेनें और 2746 ट्रेनें अलग-अलग इंटरचेंज पॉइंट पर ली  गईं। दूध पाउडर, तरल दूध और अन्य सामान्य उपभोक्ता वस्तुओं जैसी आवश्यक वस्तुओं की मांग के अनुसार आपूर्ति करने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में पार्सल वैन, रेलवे दूध टैंकरों के 141 मिलेनियम पार्सल रेक भेजे गये हैं। मार्च में पश्चिम रेलवे पर कुल घाटा 207.11 करोड़ रुपये और अप्रैल के महीने में 449.52 करोड़ रुपये रहा।  

 

तेईस मार्च से 30 अप्रैल तक लगभग 23000 टन वजन वाली अत्यावश्यक वस्तुओं को पश्चिम रेलवे द्वारा विभिन्न पार्सल विशेष गाड़ियों के माध्यम से पहुंचाया गया है जिनमें कृषि उत्पाद, दवाएं, मछली, दूध आदि शामिल हैं। इस परिवहन के माध्यम से होने वाली आय लगभग 6.95 करोड़ रुपये रही है। इस अवधि में पश्चिम रेलवे द्वारा 19 दूध विशेष ट्रेनें चलाई गईं। जिनमें 13700 टन से अधिक का भार था और वैगनों के सौ प्रतिशत उपयोग से लगभग 2.36 करोड़ रुपये की आय हुई। इसी प्रकार आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए 116 कोविड -19 विशेष पार्सल ट्रेनें भी चलाई गईं, जिनके लिए राजस्व 3.82 करोड़ रुपये रहा। इनके अलावा 1864 टन के 4 इंडेंटेड रेक भी 77.65 लाख रुपये से अधिक के राजस्व के लिए सौ प्रतिशत उपयोग के साथ चलाए गए।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना