प्री प्लानिंग था हनीट्रैपिंग के जरिये युवक को ब्लैकमेल करना ,तीन को भेजा जेल

 भीलवाड़ा हलचल।  हनीट्रैपिंग के जरिए युवक को ब्लैकमेल करने की योजना प्री प्लानिंग थी। यह खुलासा गिरफ्तार तीन आरोपितों की पुलिस पूछताछ में हुआ है। अभी गिरोह में शामिल तीन महिलाओं व दो पुरुषों की पुलिस को तलाश है, जो अपने ठिकानों से फरार हो चुके हैं। पुलिस इनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। इस बीच, मामले में एक दिन पहले गिरफ्तार 3 आरोपितों को आज न्यायालय में पेश करने पर जेल भेज दिया गया। 
करेड़ा थाना प्रभारी  जगदीश प्रसाद चौधरी ने हलचल को बताया कि बलियाखेड़ा निवासी प्रभुलाल गुर्जर ने यह केस दर्ज करवाया। गुर्जर ने रिपोर्ट में बताया कि पिछले सोमवार को उसे एक महिला बार-बार फोन कर रही थी। इस महिला ने उसे अफीम देने की बात कही। इस  पर प्रभु ने महिला की बात पर विश्वास कर लिया। इसके बाद वह महिला के बताये अनुसार, अपने एक साथी नारायण के साथ मालास-गराडिय़ा के बीच पहुंचा। जहां आरोपितों ने उसे पीटा। इसके बाद कपड़े खुलवा कर उसका वीडियो बना लिया और वायरल करने की धमकी देकर 2 लाख रुपये मांगे। बाद में आरोपित को एक रात बंधक बनाकर रखा और बातचीत की। मामला डेढ़ लाख लेने-देने तक पहुंच गया था।  इस बीच, आरोपितों ने परिवादी से 22 हजार रुपये भी छीन लिये थे। इस मामले में पुलिस ने कल  लायता के घेहरूलाल पुत्र प्रभु लाल गुर्जर व गराडिय़ा के धीरप पुत्र मोहननाथ और लक्ष्मण पुत्र शंकरनाथ को गिरफ्तार कर वारदात में काम ली एक कार व बाइक बरामद की थी। तीनों को आज न्यायालय के आदेश से जेल भेज दिया गया। 
थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस को अब केसू, भाली, नंदू सहित तीन और लोगों की तलाश है। इनमें दो आरोपित रायपुर थाना, जबकि तीन करेड़ा थाना सर्किल के निवासी है। ये सभी पांच आरोपित अपने साथियों के पकड़े जाने की भनक लगते ही अपने ठिकानों से फरार हो गये। पुलिस अब इनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। थाना प्रभारी चौधरी ने बताया कि हनी ट्रैप की यह प्री प्लानिंग थी। इसका प्लान, देबीलाल, नंदू, भाली व केसू ने बनाया था, जबकि अन्य आरोपितों को ग्रुप में इस काम को अंजाम देने के लिए जोड़ दिया था। वहीं परिवादी प्रभु लाल भी अपने नशे के लिए कम कीमत में अफीम मिलने के लालच में आकर इस गिरोह के जाल में फंस गया था।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना