रसद विभाग ने किया निरीक्षण, मिलीं अनियमितताएं, बैकर्स पर होगी कार्यवाही

भीलवाड़ा (हलचल)। जिला रसद कार्यालय की संयुक्त टीम ने उपभोक्ताओं की शिकायत पर हीरों का खेड़ा, आरजिया स्थित महालक्ष्मी बैकर्स के गोदाम का मंगलवार को औचक निरीक्षण किया। टीम में खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवेन्द्र सिंह राणावत एवं प्रवर्तन अधिकारी अमरेन्द्र कुमार मिश्र थे। जांच के दौरान अनियमितताएं पाई गई जिनमें खराब खाद्य वस्तुएं भी पाई गई।
जांच के दौरान फर्म को जिला प्रशासन द्वारा बैकरी प्रोडक्ट के निर्माण का अनुमति पत्र नहीं पाया गया। इस बारे में जानकारी लेने पर फर्म मैनेजर भारत लखवानी ने उपखण्ड मजिस्ट्रेट भीलवाड़ा की ओर से एक मई को महालक्ष्मी बैकर्स को होम डिलीवरी के लिए जारी कफ्र्यू पास की प्रति प्रस्तुत की जो 3 मई तक वैध थी। इस प्रकार जिला प्रशासन की अनुमति के बिना फर्म महालक्ष्मी बैकर्स का संचालन एवं उसके द्वारा बैकरी प्रोडक्ट का नियमों के विरुद्ध निर्माण कार्य किया जाना पाया गया एवं कफ्र्यू पास के बिना उन प्रोडक्ट की बिक्री की गई।
फर्म के श्रमिकों द्वारा बिना सामाजिक दूरी के मास्क एवं दस्ताना लगाए बिना बैकरी प्रोडक्ट के निर्माण का कार्य किया जाना पाया गया जिससे कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार की प्रबल संभावना बनती है। गोदाम में  पुराने, बदबूदार एवं खाने हेतु अयोग्य खाद्य पदार्थ 10 किग्रा क्रीम रोल, 2.4 किग्रा बिस्कुट, 2.4 किग्रा कुकीज पाए गए जिन्हें टीम ने नष्ट करवाया।
फर्म मालिक ने श्रमिकों के स्वास्थ्य का चिकित्सकीय परीक्षण भी नहीं करवाया जिससे उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पडऩा स्वाभाविक है।  गोदाम के सैनेटाइजेशन की भी कोई व्यवस्था नहीं पाई गई।
शिकायतकर्ता द्वारा पाव में फंगस की शिकायत की गई थी इसीलिए मौके पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवेन्द्र सिंह राणावत द्वारा निर्माणशुदा पाव का निरीक्षण किया गया एवं उनके नमूने लिए। जांच रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।  मौके पर निरीक्षण के दौरान पाए गए पाव के सीलबंद पैकेटों को देखने एवं चखने पर फंगस नहीं पाया गया।
जांच में पता चला कि महालक्ष्मी बैकर्स द्वारा कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए कोई भी आवश्यक कदम नहीं उठाए गए बल्कि नियमों के विरुद्ध फर्म का संचालन करते हुए सामाजिक दूरी, शुद्धिकरण के उपाय मास्क, दस्ताना का उपयोग नहीं करते हुए वायरस संक्रमण की संभावना को और भी बढ़ाने का कार्य किया गया जिससे भीलवाड़ा शहर के उपभोक्ताओं व फर्म के श्रमिकों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पडऩा स्वाभाविक है। बैकर्स पर कार्यवाही की जाएगी।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना