रिकवरी के बाद भी परेशान कर रहा कोरोना, संक्रमण के बाद तीन में से एक बुजुर्ग में पैदा हुईं नई स्वास्थ्य समस्याएं

 


बोस्‍टन,  । वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमित हुए एक तिहाई बुजुर्गों में प्रारंभिक संक्रमण के महीनों बाद स्वास्थ्य संबंधी कम से कम एक नई समस्या पैदा हुई, जिसका उन्हें इलाज करना पड़ा। विज्ञानियों का यह विश्लेषणात्मक शोध निष्कर्ष 'द बीएमजे' नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। अमेरिका स्थित आप्टम लैब्स और हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल आफ पब्लिक हेल्थ के शोधकर्ताओं ने बाताया कि बुजुर्गों में दिल, किडनी, फेफड़े एवं लिवर के साथ-साथ मानसिक समस्याएं भी पैदा हुईं।

 उन्होंने अमेरिका के स्वास्थ्य बीमा योजना रिकार्ड के आधार पर वर्ष 2020 में 65 या उससे अधिक उम्र के 1,33,366 बुजुर्गों की पहचान की, जिनमें एक अप्रैल से पहले कोविड-19 संक्रमण का पता चला था। इनका वर्ष 2020 व 2019 के गैर कोविड संक्रमितों के समूह व लोअर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट में संक्रमण के कारण बीमार लोगों के साथ तुलना की गई।

इस दौरान उनकी उम्र, लिंग व समूह का ध्यान रखते हुए कोविड-19 की वजह से अस्पताल में भर्ती किए जाने के अत्यधिक खतरे का आकलन किया गया। परिणाम बताते हैं कि वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमित हुए बुजुर्गो में से 32 प्रतिशत में संक्रमण से ठीक होने के बाद स्वास्थ्य संबंधी नई समस्याएं पैदा हुईं, जो वर्ष 2020 के तुलना समूह से 11 प्रतिशत ज्यादा थीं। शोधकर्ताओं ने कहा, 'हमारा यह अध्ययन संभावित बीमारियों के खतरे का आकलन करने और स्वास्थ्य संसाधनों के इस्तेमाल में मददगार साबित होगा।'

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर