हिंदू महापंचायत विवाद गरमाया: आश्रम में बैठक करने पर अड़ी काली सेना, स्वामी आनंद समेत चार संत हिरासत में

 


डाडा जलालपुर बवाल -

रुड़की के टोडा कल्याणपुर स्थित आश्रम में बुधवार को काली सेना के राष्ट्रीय संयोजक स्वामी आनंद स्वरूप बैठक करने के लिए पहुंचे थे। सूचना मिलते ही पुलिस क्षेत्राधिकारी विवेक कुमार उनसे मिलने पहुंचे और किसी भी प्रकार की बैठक नहीं करने का आग्रह किया। काली सेना अपनी जिद पर अड़ी रही, जिसके बाद पुलिस ने आश्रम से स्वामी आनंद स्वरूप समेत चार संतों को हिरासत में लिया है।

इससे पहले महापंचायत की तैयारी के लिए पहुंचे काली सेना के राज्य संयोजक स्वामी दिनेशांनद भारती और उनके छह समर्थकों को पुलिस ने मंगलवार शाम गिरफ्तार कर था। डाडाजलालपुर मे महापंचायत रोकने के लिए जंगलों के रास्तों पर भी थानाध्यक्ष अमरजीत सिंह पुलिस टीम के साथ पहरे पर डटे। जलालपुर व अन्य गांव में धारा 144 लागू की गई है। जिसके चलते  यहां गांव में प्रवेश करने वाले बहारी वाहनों और लोगों की पुलिस सघन जांच कर रही है।

भगवानपुर के डाडाजलालपुर मे अभी तक शांति बनी हुई है। पुलिस का धारा 144 के अन्तर्गत आने वाले पांच किलोमीटर के दायरे में कड़ा पहरा है। वहीं दो गाड़ियां पीएसी और ऋषिकेश व अन्य जगहों के थानों से एसआई बुलाए गए हैं। थानाध्यक्ष अमरजीत सिंह ने बताया की किसी तरह से महापंचायत नहीं होने देंगे। और पुलिस फोर्स बढ़ा दिया गया है।

वाहनों की चेकिंग करती पुलिस

थाना क्षेत्र के डाडा जलालपुर गांव में आयोजित हिंदू महापंचायत पर हरिद्वार जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है।  जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने प्रेस कांफ्रेस के जरिए यह जानकारी दी थी। धारा 144 (सीआरपीसी की) लगाकर पांच से ज्यादा लोगों के इकट्ठे होने को गैरकानूनी घोषित कर दिया गया है।

विज्ञापन

तैनात पुलिस बल

तैनात पुलिस बल -

महापंचायत की तैयारी के लिए पहुंचे काली सेना के राज्य संयोजक स्वामी दिनेशांनद भारती और उनके छह समर्थकों को पुलिस ने मंगलवार शाम गिरफ्तार कर था। जबकि बुधवार को काली सेना के राष्ट्रीय संयोजक स्वामी आनंद स्वरूप चार संतों को हिरासत में लिया। पुलिस ने महापंचायत के लिए लगाए गए टेंट को भी हटा दिया था, लेकिन यह रुड़की के टोडा कल्याणपुर स्थित आश्रम में महापंचयात करने पर अड़े थे। 

छावनी में बदला क्षेत्र

गौरतलब है कि 16 अप्रैल को हनुमान जन्मोत्सव के मौके पर निकाली गई शोभायात्रा के दौरान बवाल हो गया था। काली सेना ने पुलिस पर आरोप लगाया था कि उसने बवाल के सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। इसके विरोध में 27 अप्रैल को हिंदू महापंचायत करने का एलान किया था। इसी के तहत मंगलवार दोपहर को ही सेना के राज्य संयोजक स्वामी दिनेशानंद भारती गांव के मंदिर परिसर में पहुंच गए थे और कमेटी के लोगों के साथ टेंट लगाना शुरू कर दिया था।पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं माने। मंगलवार शाम करीब छह बजे सीओ पंकज गैरोला भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और स्वामी दिनेशानंद भारती समेत कई लोगों को हिरासत में ले लिया। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल, एसडीएम बृजेश कुमार तिवारी, सीओ पंकज गैरोला ने गांव में डेरा डाल दिया है और पल-पल की खबर रखी जा रही है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर