भीलवाड़ा को मिली तीन मोबाइल इन्वेस्टिगेशन यूनिट वैन- दूरस्थ स्थानों पर होने वाली घटनाओं में अब पुलिस कर सकेंगी त्वरित कार्यवाही, समय भी बचेगा

 


 भीलवाड़ा हलचल न्यूज. 

देश विदेश में वस्त्रनगरी के नाम से छाप छोड़ चुके भीलवाड़ा में अब लोगों को थाने के ज्यादा चक्कर काट परेशान नहीं होना पड़ेगा। आमजन को सुरक्षित माहौल और राहत देने के लिए पुलिस की ओर से एक नई शुरुआत की गई हैं। पुलिस आपके द्वार सोच के साथ राजस्थान पुलिस ने मोबाइल इन्वेस्टिगेशन यूनिट की शुरुआत की है। इसी के तहत भीलवाड़ा को ऐसी तीन वैन मिली हैं। इसके जरिए अब दूरदराज के गावों में भी पुलिस इन्वेस्टिगेशन में काम आने वाले आवश्यक संसाधनों के साथ मौके पर ही इन्वेस्टिगेशन का काम पूरा कर सकेगी। वैन में क्राइम सीन में काम आने वाले सारे उपकरण रहेंगे। इससे अनुसंधान को गति मिलेगी वही लोगों को भी थाने के चक्कर काट परेशान होने से राहत मिलेगी।

भीलवाड़ा पुलिस ने बीएचएन को बताया कि मोबाइल इन्वेस्टिगेशन यूनिट वैन में क्राइम सीन पर काम आने वाले तमाम उपकरण और अन्य संसाधन मौजूद रहेंगे।  दुष्कर्म हो या फिर कोई अन्य संगीन अपराध, पुलिस मौके पर ही तमाम तरह के साक्ष्य जुटा सकेगी और सैंपलिंग कर सकेगी। साथ ही वैन में नारकोटिक्स किट भी रहेगा। जिसकी सहायता से पुलिस मौके पर ही मादक पदार्थों की प्राथमिक जांच व सैंपलिंग कर सकेगी। उन्होंने बताया कि मौके से खून के नमूने उठाने व बुलेट आदि के नमूने उठाने के लिए भी वैन में किट मौजूद रहेगा। वैन में रात के समय घटनास्थल के आसपास सर्च करने के लिए हाई पावर सर्च लाइट मौजूद रहेगी और पूरे क्राइम सीन को सील करने के लिए विशेष किस्म की टेप भी मौजूद रहेगी। महिला अपराधों से जुड़े हुए प्रकरणों की जांच के लिए विशेष किस्म से तैयार किया हुआ सेक्सुअल एसॉल्ट किट भी वैन में मौजूद रहेगा।

चलता-फिरता थाना होगी वैन 
स्पेशल वैन एक तरह से चलता-फिरता पुलिस थाना होगी। इस वैन में अनुसंधान अधिकारी व अन्य पुलिसकर्मियों के बैठने के लिए मेज व कुर्सी की व्यवस्था है। क्राइम सीन पर चाहे पीडि़त के बयान दर्ज करने हो या फिर किसी संदिग्ध से पूछताछ करनी हो। वह तमाम काम वैन के अंदर आसानी से किए जा सकेंगे। साथ ही पुलिसकर्मी क्राइम सीन से ही तमाम कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद थाने पर वापस आएंगे। इसका सबसे बड़ा फायदा पीडि़त को होगा और उसे बार-बार पुलिस थाने के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। 

वैन में ये उपलब्ध रहेंगी सुविधा
 मोबाइल युनिट में बॉडी वार्न कैमरा, डिजिटल कैमरा, विडियों कैमरा, फस्र्ट एड बॉक्स, इन्वेस्टिगेशन किट, लेपटॉप, प्रिंटर, सैक्सूअल असॉल्ट एविडेन्स, रिफ्लेक्टिव टैप, वायरलैस सेट, वैट मशीन, फिगर प्रिंट किट, फुट एंड टायर कास्टिंग, टॉवर लाइट, नारकोटिक्स डिडेक्शन कीट, डीएनए सैम्पल और ड्रैगन लाइट को शामिल किया गया है. इसके जरिये मौके पर ही लोगों के बयान लिये जा सकेगे। 

कुछ दिन और लगेंगे, फिर मिलने लगेगी सुविधा
सूत्रों के अनुसार,  मोबाइल इन्वेस्टिगेशन यूनिट वैन में आवश्यक किट आदि अभी उपलब्ध नहीं हो पाये हैं। ऐसे में भीलवाड़ा पुलिस को मिली तीनों वैन एमटी शाखा में खड़ी की हुई है। सूत्रों की माने तो अगले कुछ दिनों में किट आने की संभावना है। ये किट आतेही इस वैन की सुविधा भीलवाड़ा पुलिस को मिलने लगेगी। 

ये होंगे फायदे
 - ये एमआईयू वैन जि़ला मुख्यालय से दूर स्थित थानों में उपयोग में लाई जाएंगी। इनकी सहायता से दूरस्थ स्थानों पर होने वाली घटनाओं में त्वरित कार्यवाही की जा सकेगी और अनुसंधान में लगने वाला समय भी बचेगा।
-एमआईयू उपलब्ध होने से जाँच अधिकारी त्वरित गति से मौके पर पहुँचेंगे और गैजेट्स की मदद से मौके पर ही अनुसंधान किया जा सकेगा। 
- इससे गवाहों को बुलाना नहीं पड़ेगा और जाँच का औसत समय कम होने के साथ ही इन्वेस्टिगेशन क्वालिटी में भी सुधार होगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर