आग में घिरी मां से लिपटे बच्चे, बेटी की मौत:झुलसी पत्नी-बच्चों को हॉस्पिटल की जगह मंदिर ले गया युवक

 


जोधपुर। रसोई में गैस लीक होने से एक महिला बुरी तरह झुलस गई। आग की लपटों से घिरा देखकर भाई-बहन भी मां से लिपट गए। हादसे में तीनों बुरी तरह झुलस गए। हैरानी की बात यह है कि पति हादसे के बाद सभी को हॉस्पिटल ले जाने के बजाए मंदिर ले गया। इस दौरान एक तीन साल की बच्ची झुलसने से तो बच गई, लेकिन दहशत से उसकी मौत हो गई। हादसा जोधपुर के डोली गांव में हुआ।

SHO मनोज कुमार परिहार ने बताया कि बाबूलाल पटेल की पत्नी भंवरी देवी (30) सोमवार शाम को खाना बना रही थी। इसी दौरान रसोई गैस के पाइप में लीकेज हो गया और आग पकड़ ली। भंवरी देवी आग की चपेट में आ गई। मां को आग की लपटों से घिरा देख बेटा भावेश (8) व बेटी तनिशा (5) मां से लिपट गए। बच्चों और पत्नी की आवाज सुन बाबूलाल उन्हें बचाने आया और पानी डालकर आग बुझाई। बाबूलाल पत्नी व दोनों बच्चों को गांव के ही एक मंदिर में ले गया।

3 साल की बच्ची की मौत
बाबूलाल सोमवार देर रात घर लौटा और मंगलवार दोपहर तक पूजा-पाठ व घरेलू इलाज ही करता रहा। समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण पत्नी और बच्चों की हालत बिगड़ती चली गई। मंगलवार शाम को तीनों को जोधपुर के एमजीएच हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। घर पर 3 साल की बेटी भावना अकेली ही थी। बाबूलाल मंगलवार रात को जब घर आया तो बच्ची बेहोश मिली। उसे हॉस्पिटल लेकर गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार भावना की मौत दहशत के कारण हुई है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर