मनरेगा में भ्रष्टाचार व फर्जीवाड़े की जांच कराने की मांग को लेकर वार्डपंच ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन


भीलवाड़ा हलचल न्यूज.
शाहपुरा तहसील की बीलिया ग्राम पंचायत के वार्ड पंच दूदाराम ने सोमवार को जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर मनरेगा में किए गए भ्रष्टाचार और फर्जीवाड़े की जांच कराने की मांग की है।
ज्ञापन में वार्ड पंच दूदाराम ने कहा है कि बीलिया ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्यों में काफी फर्जीवाड़ा कर मस्टररोल भरवाए जा रहे हैं। ज्ञापन में कहा गया है कि 16 से 31 जनवरी तक सूरजपुरा-देवरी रास्ते पर मिट्टी का कार्य किया गया। इस साइट पर जिन मजदूरों के नाम लिखे गए हैं वे सभी बाहर काम करते हैं। मस्टररोल में दूसरे गांव के लोगों के नाम लिखे हुए हैं। लेबर कभी सारास गांव आई ही नहीं और मस्टररोल में जो कार्य दिखाया गया है वह कभी हुआ ही नहीं। मस्टररोल में जितने भी मजदूरों का नाम लिखा गया है, उनके नाम से कार्य की मजदूरी 200 रुपए दर्ज कर मस्टररोल में दर्ज राशि का सरपंच ने भुगतान उठा लिया। इसी प्रकार गुथली नाडी की आव गहरी करने का कार्य 16 जनवरी से 31 जनवरी तक मस्टररोल जारी कर मस्टररोल में मजदूरों का नाम दर्ज किया और मौके पर कोई कार्य नहीं करवाया गया। इसके बावजूद सचिव व सरपंच ने मिलकर मस्टररोल में प्रति मजदूर 187 रुपए मजदूरी दर्शा भुगतान उठा लिया।
इसके अलावा नई नाडी गहरीकरण एवं विस्तार कार्य बीलिया साइट पर ऑनलाइन हाजरी के नाम पर तीन मजदूरों की फोटो के स्थान पर अन्य की फोटो लगाकर फर्जीवाड़े से हाजरी भरकर भुगतान उठाया गया।
वार्ड पंच ने आरोप लगाया कि नाडी व छुरी नाडी को गहरा करने व मिट्टी कार्य कराना चाहा तो ग्रामीणों ने जेसीबी का उपयोग नहीं करने दिया गया। छुरी नाडी को गहरा करने के लिए लेबर ने एक पखवाड़े तक कार्य किया। इस दौरान प्रति मजदूर 200 रुपए लिए गए और भुगतान करने की बात कही गई लेकिन अब तक भी मजदूरों को भुगतान नहीं किया गया। दूदाराम ने बताया कि इस संबंध में शाहपुरा पंचायत समिति के विकास अधिकारी से इस संबंध में शिकायत की गई लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई।
ग्राम सभा आयोजित कराने की मांग
वार्ड पंच दूदाराम ने कलेक्टर से बीलिया ग्राम पंचायत में एक वर्ष से ग्राम सभा का आयोजन नहीं होने की शिकायत करते हुए ग्राम सभा आयोजित कराने की मांग की है। दूदाराम ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर बताया कि सरपंच और सचिव को ग्राम सभा के बारे में कहने पर वे टालमटोल करते हैं जिससे ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है।
रसीदें कटवाने के बाद भी ग्रामीणों को नहीं मिल रहे पट्टे
वार्ड पंच दूदाराम की ओर से कलेक्टर को सौंपे गए एक अन्य ज्ञापन में कहा गया है कि उसने व गांव के अन्य लोगों ने पुश्तैनी जायदाद के पट्टे बनाने के लिए पत्रावलियां तैयार कर सचिव को सौंपी और सचिव ने 120-120 रुपए की रसीदें भी काट दी लेकिन अब तक उन्हें पट्टे नहीं दिए गए। ज्ञापन में आरोप लगाया गया है कि सचिव ने अपने मिलने वालों के पट्टे बनाकर दे दिए जबकि अन्य को देने में टालमटोल कर रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि पट्टे मिलने के बाद पट्टों के आधार पर ऋण लेकर और लागत लगाकर अपने घर पक्का बनवा लेते लेकिन सचिव द्वारा पट्टे जारी नहीं करने से लोगों में आक्रोश है। ज्ञापन में पट्टे जारी करवाने की मांग की गई है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर